अम्बेडकरनगर: बसखारी थाना व नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा के रसूलपुर में स्थित सूफी संत हज़रत सैय्यद मखदूम अशरफ जहांगीर समनानी रहमतुल्ला अलैही की विश्व प्रसिद्ध दरगाह का वार्षिक ग़ुस्ल उत्सव को स्थगित कर दिया है। रूहानी इलाज़ के लिए पूरे विश्व का केन्द्र बना दरगाह में स्थित आस्ताना पर मज़ार शरीफ का ग़ुस्ल मुबारक प्रत्येक वर्ष काफी धूमधाम से किया जाता है जिसमें लाखों की संख्या में जायरीनों व श्रद्धालुओं का जमावड़ा होता है लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के कारण इस वर्ष वार्षिक ग़ुस्ल मुबारक के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। दरगाह के सरपरस्त ए आला मौलाना सैय्यद शाह फखरुद्दीन अशरफ व सज्जादानशीन मौलाना सैय्यद मोहीउद्दीन अशरफ ने संयुक्त रूप से बयान जारी करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप व जनसुरक्षा को देखते हुए इस वर्ष ग़ुस्ल शरीफ होना संभव नहीं है इसलिए अगले वर्ष फरवरी या मार्च में तारीख का एलान किया जाएगा। दरगाह कमेटी ने ग़ुस्ल मुबारक कार्यक्रम के स्थगित होने की पुष्टि करते हुए बताया कि कोरोना वायरस के कारण जारी लॉक डाउन व अनलॉक की चल रही प्रक्रिया के कारण इस वर्ष ग़ुस्ल मुबारक का कार्यक्रम स्थगित किया गया है।
बहरहाल पूरे विश्व मे रूहानी इलाज़ के लिए केंद्र बिंदु बन चुकी प्रख्यात दरगाह मखदूम अशरफ जहांगीर सिमनानी पर इस वर्ष ग़ुस्ल मुबारक के कार्यक्रम को महामारी व जन सुरक्षा के कारण स्थगित कर दिया गया है।

सूचना न्यूज़ की खबर के असर – हत्या के दो आरोपियों को पुलिस ने भेजा जेल