टाण्डा नगर में अमृत योजना का जल निगम उड़ा रहा है मखौल – ठेकेदार लगा रहे हैं पलीता

Sharing Is Caring:

183 किमी पानी की नई पाइप सहित 4 ओवर हेड टैंक व 12 ट्यूबवेल निर्माण का चल रहा है कार्य

छोटे छोटे डाले जा रहे हैं टुकड़े – स्थानीय लोगों में आक्रोश

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट: आलम खान एडिटर – मान्यता प्राप्त पत्रकार) शासन की अति महत्वाकांक्षी अमृत योजना-2 का औद्योगिक नगरी टाण्डा में जल निगम विभाग मखौल उड़ाता नज़र आ रहा है। सम्बन्धित ठेकेदारों द्वारा अमृत योजना पर जमकर पलीता लगाया जा रहा है जिसकी ज़िम्मेदारी लेने को कोई भी अधिकारी तैयार नहीं है जबकि ठेकेदार मनमानी करते हुए पाइप के छोटे छोटे टुकड़ों को डाला जा रहा है जिससे स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त है।


बताते चलेंकि शासन की मंशानुसार अमृत योजना-2 के तहत टाण्डा नगर पालिका परिक्षेत्र की सभी सड़कों व गलियों में जल निगम विभाग द्वारा 183 किमी पानी की नई पाइप बिछानी है। उक्त कार्यों के लिए सड़कों व गलियों को खोद कर नई पाइप डालने एवं 17 हज़ार घरों को पानी का कनेक्शन देने के साथ सड़क व गलियों को पुनः बन्द करने का काम किया जाना है। जल निगम द्वारा टाण्डा नगर के राजघाट, मांझी टोला, कश्मिरिया व फत्तूपट्टी में चार ओवर हेड टैंक और उनको भरने के लिए चार ट्यूबवेल भी लगाई जानी है। टाण्डा नगर क्षेत्र में पानी की पाइप लगाने का काम प्रगति पर है लेकिन अप्रशिक्षित ठेकेदारों द्वारा पाइप के छोटे छोटे टुकड़ों को भी डाला जा रहा है। स्थानीय लोगों के आक्रोश के बाद ठेकेदारों द्वारा कुछ स्थानों पर पुनः खुदाई कर पाइप निकाली भी गई।
नगर पालिका टाण्डा के ईओ डॉक्टर आशीष सिंह से जब उक्त सम्बन्ध में जानकारी करना चाहा तो उन्होंने बताया कि नगर पालिका के माध्यम से कोई काम नहीं हो रहा है बल्कि पूरा दायित्यव जल निगम विभाग पर है। जल निगम अयोध्या के अधिशाषी अभियंता आंनद दूबे से संपर्क करने का प्रयास कोय गया लेकिन उनका मोबाइल दो दिनों से बंद आ रहा है। उक्त सम्बंध में टाण्डा उपजिलाधिकारी मोहनलाल गुप्ता ने बताया कि उन्हें भी कोई अधिक जानकारी नहीं है।
बहरहाल टाण्डा नगर क्षेत्र में 183 किमी पानी की नई पाइप लाइन बिछाई जा रही है लेकिन उक्त सम्बन्ध में किसी भी अधिकारी को विधिवत पूरी जानकारी तक नहीं है और जल निगम से जुड़े ठेकेदार अन्य छोटे ठेकेदारों के सहारे मलाई काट रहे हैं और शासन को अति महत्वाकांक्षी अमृत योजना का मखौल उड़ाते हुए पलीता लगाने का काम कर रहे हैं।

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!