बरेली (रिपोर्ट: कुनाल आर्य) उप जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार तथा जिला प्रोबेशन अधिकारी श्रीमती नीता अहिरवार की अध्यक्षता में साकार संस्था द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला घरेलू हिंसा उन्मूलन दिवस सदर तहसील सभागार में मनाया गया। संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिवर्ष 25 नवंबर को अंतर्राष्ट्रीय महिला घरेलू हिंसा उन्मूलन दिवस मनाया जाता है। वर्ष 2021 के लिये इस दिवस की थीम Orange the World : End Violence against Women Now है। श्रीमती हरन्द्रि कौर चड्डा एडवोकेट जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सुश्री सोनम शर्मा महिला कल्याण अधिकारी, रिंकी सैनी जिला समन्वयक महिला शक्ति केंद्र, शिल्पी अग्रवाल, ममता, नितिका, कमलेश साकार संस्था, प्रभारी केन्द्र प्रबन्धक वन स्टॉप सेंटर, रीना स्टाफ नर्स वन स्टॉप सेंटर आदि के द्वारा प्रतिभाग किया गया।
उप जिलाधिकारी सदर धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि महिलाओं को स्वयं के प्रति जागरुक होना व शिक्षा प्राप्त कर अपने को सशक्त व स्वावलम्बी बनने को कहा गया एवं ‘‘चुप्पी तोडें अपनी बात बोलें‘‘ का संदेश दिया गया। कार्यक्रम में बालिकाओं द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एवं बाल विवाह विषय पर नाटक प्रस्तुत किये। जिसमें ग्रामीण क्षेत्र एवं शहरी क्षेत्र की महिलाओं ने बढ़ चढ़कर प्रतिभाग किया। महिलाओं एवं बेटियों के लिए संचालित हो रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के विषय में जानकारी भी दी गई।
उपनिदेशक महिला कल्याण/जिला प्रोबेशन अधिकारी ने कहा कि किसी भी प्रकार की हिंसा ना तो सहना चाहिए और ना ही उसका सपोर्ट करना चाहिए, किसी भी हिंसा का खुलकर विरोध करना चाहिए और अपने अधिकार और हक के प्रति जागरूक होना चाहिए। उन्होंने महिला कल्याण विभाग की समस्त योजनाओं मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, बाल सेवा योजना(कोविड), बाल सेवा योजना(सामान्य), पति की मृत्युपरान्त निराश्रित महिला पेंशन योजना की जानकारी दी गयी एवं मतदान के प्रति अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने हेतु बताया गया। वर्तमान में मतदाता पहचान पत्र बन रहे हैं, 18 वर्ष से अधिक आयु के जिनके मतदाता पहचान पत्र नहीं है वह अपना मतदाता पहचान पत्र सम्बन्धित जन सुविधा जनकेन्द्र के द्वारा ऑनलाइन करवा सकते है या सम्बन्धित तहसील में आवेदन कर सकते हैं। मिशन शक्ति अभियान 3.0 के अंतर्गत यौन हिंसा, लैंगिक असमानता, घरेलू हिंसा, कन्या भ्रूण हत्या, कार्यस्थल पर लैंगिक हिंसा तथा दहेज, बालिकाओं को स्वावलम्बी बनाना, उनमें सुरक्षित परिवेश की अनुभूति कराना, जागरूकता पैदा करना, आत्मरक्षा की कला विकसित करने हेतु महिलाओं तथा बच्चों को प्रशिक्षित करना, सुरख शपथ तथा उनके प्रति हिंसा/अपराध करने वालों की पहचान उजागर करने एवं मानसिक स्वास्थ्य एवं मनोसामाजिक मुद्दों सुरक्षा तथा सपोर्ट हेतु जागरूक किया गया एवं 181 महिला हेल्पलाइन नम्बर, 1090-वीमेन पावर लाइन, 1098-चाइल्ड हेल्पलाइन, 112-आपात सेवाएं आदि हेल्पलाइन नम्बरों की जानकारी दी गयी। इसके अतिरिक्त बालिकाओं के साथ हो रही हिंसा एवं उनसे बचाव के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।
श्रीमती हरन्द्रि कौर चड्डा एडवोकेट जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं से सम्बन्धित कानूनों व अधिकारों तथा अन्य प्रावधानों जिसमें घरेलू हिंसा, 498 ए, दहेज, भरण पोषण, वसीयत, संपत्ति पर अधिकार, कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, समानता का अधिकार आदि के बारे में जानकारी दी गयी।
वन स्टॉप सेन्टर की टीम द्वारा साकार संस्था द्वारा तहसील सभागार में आयोजित महिला हिंसा के विरोध में 16 दिवसीय अभियान में प्रतिभाग कर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया तथा महिला सम्मान, सुरक्षा, स्वावलंबन के बारे में जागरूक किया गया।
महिला कल्याण विभाग से सुश्री सोनम शर्मा महिला कल्याण अधिकारी व रिंकी सैनी जिला समन्वयक महिला शक्ति केंद्र ने वीरांगना रानी अवंतीबाई महाविद्यालय, रामपुर गार्डन, में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें महिला कल्याण अधिकारी द्वारा बालिकाओं के साथ हो रही हिंसा एवं उनसे बचाव के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गयी।