पानी के लिए तरसते रहे घंटों बैठे लोग – भीड़ जुटाने के लिए बैठाए गए सफाई कर्मचारी

अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट: आलम खान एडिटर) प्रधानमंत्री की अतिमहत्वाकांक्षी शहरी आवास योजना के तहत जनपद में एक हज़ार सहित पूरे प्रदेश में 75 हज़ार लाभार्थियों को आवास पूर्ण होने के उपरांत उन्हें चाभी व प्रमाण पत्र दिया गया। शासन की मंशानुसार जनपद की समस्त नगर पालिका व नगर पंचायतों में भी पीएम आवास योजना के लाभार्थियों को चाभी भेंट की गई।
“ए” श्रेणी का दर्जा प्राप्त नगर पालिका टाण्डा में भी उक्त क्रम में भव्य कार्यक्रम आयोजित कर 207 लाभरियों को प्रमाण पत्र एवं 10 लाभार्थियों को चाभी वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया था।
उच्च अधिकारियों के सख्त निर्देश के बाद भी कार्यक्रम पूरी तरह अव्यवस्थित नज़र आया।
टाण्डा नगर पालिका परिषद कार्यालय के प्रांगण में पंडाल लगाकर लाइव कार्यक्रम दिखाने के लिए 207 लाभार्थियों को आमंत्रित किया गया था लेकिन अधिकांश लाभार्थी कार्यक्रम में नहीं पहुंच सके तो कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिए नगर पालिका के सफाई कर्मियों को घण्टों बैठाया गया था।
डूडा परियोजना निदेशक व अपर जिलाधिकारी अशोक कुमार कन्नौजिया के सख्त निर्देश के बाद भी पंडाल व आसपास पानी की समुचित व्यवस्था नहीं कि गई थी और ना ही घण्टों बैठे लाभार्थियों के लिए पंखा की व्यवस्था नगर पालिका ने की थी।
प्रातः 9 बजे से अपने छोटे छोटे बच्चों के साथ बैठी महिलाएं घण्टों पानी मांगती रही लेकिन किसी को कुछ सुनाई नहीं दिया। पत्रकारों के हस्ताक्षेप के बाद आननफानन में लाभार्थियों को पानी की व्यवस्था की गई।
डूडा अवगर अभियन्ता राजकुमार व राहुल की मौजूदगी में सम्पन्न हुए पीएम शहरी आवास योजना के 10 लाभार्थियों को चाभी भेंट की गई जिसमें नेहरूनगर की शीतल व राजकुमारी, मुबारकपुर की श्यामवती व लाल देवी, हयातगंज की शारदा व शबनम, मुसहाँ की पूनम, मीरानपुरा के मोहम्मद रशीद, सिकंदराबाद की परवीन बानों, अलीगंज की रौशन जहां को सांकेतिक चाभी भेंट की गई तथा अन्य लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किया गया।

उक्त कार्यक्रम में काफी लोगों से वार्ता की गई तो उन लोगों ने बताया कि उन्हें पता हो नहीं है कि इस कार्यक्रम में उन्हें क्यों बुलाया गया है और ना ही उन्हें आवास योजना का लाभ ही मिला है। सफाई कर्मियों ने भी आवास ना मिलने की शिकायत करते हुए कहा कि उन्हें सुबह से यहां बैठाया गया है और कहा गया है कि खाना खा कर जाइयेगा।

नगर पालिका टाण्डा में आयोजित कार्यक्रम के दौरान शासन की मंशा के विपरीत सोशल डिस्टेंडिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गई और नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी डॉक्टर आरपी श्रीवास्तव मूकदर्शक की श्रेणी में बने नज़र आए। कार्यक्रम के दौरान कई अव्यवस्थाओं से नाराज़ कई सभासद बीच कार्यक्रम में ही लौट गए। कार्यक्रम में किसी उच्च अधिकारी के ना आने के कारण बस फोटोशूट तक मामला दिखाई पड़ा। कार्यक्रम समाप्ति के बाद भोजन पैकेट वितरण में नगर पालिका की खूब किरकिरी हुई। इस दौरान नगर पालिका के सभी अधिकारी व कर्मचारी कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहे।