सामूहिक दुराचार की नाबालिग मृतिका को दी गई श्रधांजलि


अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट : जावेद सिद्दीकी) नगर अशरफपुर किछौछा के बसखारी कस्बे में बसखारी के युवाओं ने कैंडल जलाकर मृतका गुलनाज खातून को श्रद्धांजलि दिया गया। बताते चलेंकि ग्राम रसूलपुर हबीब पोस्ट चांदपुर जिला वैशाली बिहार प्रदेश की रहने वाली नाबालिक बच्ची गुलनाज खातून को दो चचेरे भाई सतीश व चंदन लगातार दो तीन महीने से छेड़खानी कर रहे थे और जबरदस्ती शादी करने के लिए धमकी देते थे जिसका इंकार करने पर बार बार मृतका गुलनाज खातून को जान से मारने की धमकी देते थे। गुलनाज़ खातून अपनी बहन गुलशन खातून के साथ घर के बगल में कूड़ा फेंकने गई तो इसी दौरान दो मनबढ़ दबंग लड़के सतीश और चंदन ने गुलनाज को पकड़कर उसके ऊपर केरोसिन डाल दिया। सतीश ने माचिस से आग लगाकर गड्ढे में धकेल दिया और जलता हुआ छोड़कर दोनों भाग गए। छोटी बहन द्वारा आवाज लगाने पर आसपास के लोग इकट्ठा हो गए ।क्षेत्रीय लोगों द्वारा आग बुझाने का प्रयास किया गया। आग बुझते बुझते मृतका गुलनाज 80 परसेंट से ज्यादा जल चुकी थी ।जिसे हॉस्पिटल उठाकर ले गए उसके बाद हॉस्पिटल से पटना पीएमसीएच में रेफर कर दिया गया ।जहां पर 15 तारीख को नाबालिक बच्ची की दर्दनाक मौत हो गई। मृतका गुलनाज खातून को इंसाफ दिलाने के लिए बसखारी कस्बे के कई समाजसेवी युवकों ने कैंडल जलाकर मृतका गुलनाज खातून को श्रद्धांजलि अर्पित की और और गुनहगारों की जल्द से जल्द सज़ा दिलाने की मांग की। इसमें मुख्य रूप से वरिष्ठ समाजसेवी सैय्यद अजीज अशरफ ,अली रजा फैजी, गुलाम रहमानी, गुलाम यजदानी, सोनू खान, मोहम्मद शादाब, शहजेब खान, हेरा कुरैशी, अजीम, रिजवान, अकरम बक्शी, अकबर, जलालुद्दीन, शहजादे, अल्तमस , जाकिर हुसैन, मजहर अली, अबू बकर खान, मोहम्मद आकिब सहित अन्य लोग मौजूद रहे।