सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: टाण्डा तहसील मुख्यालय व कोतवाली के मुख्य गेट के सामने की तश्वीर स्वच्छ भारत मिशन पर बट्टा लगाने के काफी है। सोशल मीडिया पर वायरल जलभराव की उक्त तश्वीर नगर पालिका प्रशासन पर भी उंगलियां उठा रही है।
शुक्रवार को मात्र चन्द मिनट की हुई रिमझिम बरसात के बाद टाण्डा तहसील मुख्यालय व कोतवाली कार्यालय जाने वाले वाला मार्ग जलमग्न हो गया। चीन में फैले कोरोना वायरस को लेकर जहाँ देश में भी स्वास्थ विभाग सतर्क हो गया है वहीं उक्त जलभराव से आस पास क्षेत्र में संक्रामक का खतरा काफ बढ़ गया है। उक्त गन्दे जलभराव से जहाँ वादकारियों की तहसील मुख्यालय जाना मज़बूरी है वहीं उक्त स्थान से ही उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, पुलिस सर्किल ऑफिसर, कोतवाली निरीक्षक सहित सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को भी हो कर गुजरने पड़ता है। जनपद की ‘ए’ श्रेणी का दर्जा प्राप्त नगर पालिका के अधिकारी भी सम्पूर्ण समाधान दिवस में इसी मार्ग से होकर गुजरते हैं लेकिन संक्रामक बीमारियों को न्यौता डेरा उक्त जलभराव किसी को भी नज़र नहीं आता है। आपको बताते चलेंकि उक्त स्थान पर हमेशा ही पानी का जमाव देखा जाता है तथा नगर पालिका प्रशासन उसे तहसील व थाना का क्षेत्र बता कर कोई कार्य नहीं कराती है हालांकि नगर पालिका प्रशासन द्वारा गत दिनों लकहों रुपयों की लागत से तहसील परिसर में निर्माण कार्य कराए भी गए थे।
बहरहाल मात्र चन्द हज़ार रुपयों को खर्च कर तहसील मुख्यालय आने वाले वादकारियों व कोतवाली में आने वाले फरियादियों को संक्रमित हो कर गंभीर बीमारियों की चपेट में आने से बचाया जा सकता है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now