सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

टाण्डा कोतवाली पुलिस ने एक सम्मानित महिला सभसाद की तहरीर पर दूसरे सम्मानित सभासद के खिलाफ एससीएसटी एक्ट सहित विभिन्न धाराओं में गत वर्ष का अंतिम मुकदमा पंजीकृत कर विवेचना सीओ को सौंप दिया है जिसकी पूरे क्षेत्र में चर्चा हो रही है।

टाण्डा नगर पालिका परिषद के सम्मानित सभासदों के दो गुटों के बीच काफी दिनों से चल रही नूराकुश्ती अब खुल कर सामने आ गई है जिसे कई बाहरी लोग भी हवा देने से नहीं चूक रहे हैं। आपको बताते चलेंकि नगर पालिका अध्यक्ष रेहाना अंसारी के खिलाफ कुछ सभासदों द्वारा अलग गुट बना कर काफी दिनों से नूराकुश्ती की जा रही थी लेकिन गत दिनों हुए बोर्ड बैठक में सभासदों का दोनों गुट सदन के अंदर ही आपस मे भिड़ गए था लेकिन बीच बचाव के बाद मामले को शांत किया जा सका था। वार्ड नंबर एक कि महिला सभसाद अमरावती देवी की तहरीर पर टाण्डा कोतवाली पुलिस ने वर्ष 2019 का अंतिम मुकदमा पंजीकृत किया। वार्ड नंबर 11 के सभसाद शकील अंसारी के खिलाफ अपराध संख्या 359/19 पर आईपीसी की धारा 352, 504 व 506 सहित एससीएसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है जिसकी विवेचना टाण्डा पुलिस क्षेत्राधिकारी अमर बहादुर को सौंपी गई है।मुकदमा वादी अमरावती देवी के अनुसार सोमवार को लगभग 1:30 बजे जनता के कार्य से जब वो नगर पालिका परिसर पहुंची तो पालिका अध्यक्ष के कार्यालय के सामने कुछ सभासद भूजा चबा रहे थे जिसे उसने खाने से मना कर दिया लेकिन इतने में सभसाद शकील अंसारी उसे जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हए भद्दी भद्दी गालियां देने लगा और मना करने पर पास में रखी कुर्सी उठा कर मारने का प्रयास किया। अन्य लोगों के बीच बचाव के बचाने पर जान से मारने की धमकी देता फरार हो गया। अन्य सभासदों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो गया लेकिन पुनः आरोपित सभासाद द्वारा एक सम्मानित व्यापारी से हुई टेलीफोनिक वार्ता में अपशब्दों के प्रहार के कारण मामला तूल पकड़ लिया तथा सभासदों के बीच काफी दिनों से चल रही नूराकुश्ती खुल कर सामने आ गई। नगर पालिका अध्यक्ष से आक्रोशित चल रहे कुछ सभासदों ने महिला सभसाद के साथ पुलिस क्षेत्राधिकारी कार्यालय पर जा कर मामले की गंभीरता को बताया जिसके बाद सीओ टाण्डा के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने आखिरकार मंगलवार की देर शाम में वर्ष 2019 का अंतिम मुकदमा सभासाद शकील अंसारी के खिलाफ दर्ज कर विवेचना सीओ को सौंप दिया है। आरोपी सभासद शकील अंसारी ने बताया कि सभासदों के बीच आपसी मज़ाक काफी दिनों से चलता रहा है और इसी कड़ी में आपस मे हंसी मजाक चल रहा था लेकिन कुछ सभासदों के साथ कई बाहरी लोगों ने भी मामले को तूल पकड़ा कर मुकदमा दर्ज कराने में अहम भूमिका अदा किया है। बहरहाल सम्मानित महिला सभासद की तहरीर पर दूसरे सम्मानित सभासद के खिलाफ दर्ज हुए वर्ष के अंतिम मुकदमे की चर्चा पूरे क्षेत्र में खूब हो रही है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now