Rate this post

लखनऊ: एक तरफ उत्तर प्रदेश में UP स्थापना दिवस मनाया जा रहा है वजिन दूसरी तरफ प्रदेश की राजधानी लखनऊ के भीड़भाड़ वाले रिहायसी इलाके में पांच मंजिला बिल्डिंग धराशाई होने से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। मुख्यमंत्री ने मामले को संज्ञान में लेते हुए एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की टीम को बचाओ कार्य मे लगा दिया। उपमुख्यमंत्री सहित नगर विकास मंत्री, मुख्यमंत्री सलाहकार सहित कमिश्नर आदि पहुंच गए। बिल्डिंग में लगभग डेढ़ दर्जन परिवारों के रहने के कारण बचाओ कार्य तेज़ कर दिया गया है। बिल्डिंग गिरने के पीछे भूकंप माना जा रहा है।
मंगलवार देर शाम में लखनऊ के वजीर हसनगंज रोड पर मंगलवार शाम को एक रिहाईशी इमारत ढह गई जिसमें कई लोगों के दबे होने आशंका जताई जा रही है। घटना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया है।
लखनऊ के वजीर हसनगंज रोड स्थित एक रिहाईशी इमारत ढह गई, जिसमें कई लोगों के दबे होने की सूचना है। पुलिस मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल रही है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक पुरानी बिल्डिंग गिरने के मामले को संज्ञान में लेते हुए घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाकर जिला प्रशासन के अधिकारियों को उनके समुचित उपचार के निर्देश दिए हैं। साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की है। इसके साथ ही जिलाधिकारी और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ साथ एसडीआरएफ, एनडीआरएफ की टीमों को मौके पर जाकर राहत कार्य पर कराने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ कई अस्पतालों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए।
उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक, नगर विकास मंत्री ए के शर्मा, मुख्यमंत्री के सूचना सलाहकार अवनीश अवस्थी, कमिश्नर रोशन जैकब आदि घटना स्थल पर मौजूद हैं।

एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की अतिरिक्त टीम बचाओ कार्य मे जुट गई है। जेसीबी मशीनों के अलावा अत्याधुनिक मशीनों से मलबों को हटाने एवं मलबों में दबे लोगों को बचाने का कार्य युद्ध स्तर लार शुरू कोय जा चुका है। बिल्डिंग में 15 से 20 परिवार रहता था।
सूत्रों के अनुसार बिल्डिंग के बेसमेंट में कई दिनों से चल रहा था कार्य,इलाक़े के लोगों ने बताया कई बार धमक कि आवाज़ भी आती थी। तीन लोगों को घटना के बाद बाहर घायल अवस्था में निकाला गया है।
घटना के पीछे का कारण भूकम्प माना जा रहा है। आसपास की बिल्डिग में भी दरार बताई जा रही है। चर्चा जा कि उक्त बिल्डिंग काफी पुरानी थी तथा पूर्व में आए भूकम्प के दौरान दीवारों में दरारें आ गई थी। बिल्डिंग गिरने की घटना से प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया है।