अम्बेडकरनगर: जिला अस्पताल में संदिग्ध रूप से हुई जियाउद्दीन की मृत्यु प्रकरण में स्वाट टीम की संलिप्तता की चर्चाएं होने पर पुलिस कप्तान आलोक प्रियदर्शी ने स्वाट टीम की ‘बी’ यूनिट के सभी सिपाहियों को लाइन हाजिर कर स्वाट टीम की संलिप्तता की जांच अपर पुलिस अधीक्षक को सौंप दिया है। पुलिस अधीक्षक श्री आलोक ने बताया कि परिजनों की मांग पर पोस्टमार्टम हेतु मेडिकल टीम का पैनल गठित किया गया है तथा वीडियों ग्राफी कराते हुए मेडिकल पैनल पोस्टमार्टम करेगी।

श्री आलोक ने बताया कि घटना की मजिस्ट्रेटियल जांच हेतु पत्राचार किया गया है तथा एनएचआरसी व स्टेट ह्यूमन कमीशन को भी पत्राचार के माध्यम से सूचिना दी गई है। इस दौरान परिजनों द्वारा जहां पुलिस कर्मियों पर हत्या का आरोप लगाया जा रहा है वहीं समाजवादी पार्टी ने सीधा निशाना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर लगाते हुए कहा कि ‘ठोक दो’ के आदेश पर एक और निर्दोष की हत्या पुलिस के हाथों कराया गया है।
पुलिस कप्तान श्री आलोक ने मीडिया कर्मियों को बताया कि अपराध संख्या 11/21 पर धारा 307, 398, 34 आईपीसी वादी प्रदीप कुमार द्वारा अज्ञात बदमाशों द्वारा गोली मारकर बैग छीनने के प्रयास करने का अभियोग पंजीकृत कराया गया था। विवेचना के दौरान प्रकरण का अनावरण करते हुए कई अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया था। जिसमें उमानाथ गिरी उर्फ ओमगिरी पुत्र स्वर्गीय राजेन्द्र गिरी निवासी ग्राम मढवरपुर थाना जैतपुर जनपद अम्बेडकरनगर व अन्य जिन पर 50 हजार रूपये का ईनाम भी था, उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया था। इसी अपराध से सम्बन्धित ओमगिरी का साथी कमर रशीद पुत्र जफर निवासी परसहां थाना निजामाबाद जनपद आजमगढ़ की भी तलाश की जा रही थी। मुखबिर द्वारा सूचना दी गई कि जियाउद्दीन नाम का व्यक्ति कमर रशीद के विषय में लाभप्रद सूचना दे सकता है। दावा कोया गया कि अभियुक्त ओमगिरी, कमर रशीद व जियाउद्दीन की मोबाइल पर बात होती थी। जियाउद्दीन को फरार अभियुक्त कमर रषीद के सम्बन्ध में पूछताछ हेतु लाया गया था। स्वाट टीम द्वारा गाड़ी में पूछताछ की जा रही थी। इसी दौरान जियाउद्दीन द्वारा सीने में दर्द की शिकायत की गई। जियाउद्दीन की अवस्था को देखकर स्वाट टीम के आरक्षी हरिकेश द्वारा रात्रि समय 01ः12 बजे जिला चिकित्सा अम्बेडकरनगर में भर्ती करवाया गया। जियाउद्दीन की मृत्यु ईलाज के दौरान समय लगभग 01ः45 बजे हो गई।
दावा है कि मृतक को जब भर्ती किया गया तो चिकित्सकों ने सांस फूलने, सीने में दर्द व पेट दर्द की बात बताई गई थी। चूंकि जियाउद्दीन उम्र लगभग 36 वर्ष पुत्र अलाउद्दीन निवासी कोडरा गोहाना थाना पवई जनपद आजमगढ़ का अस्पताल में दाखिला पुलिस द्वारा कराया गया था इसलिए एनएचआरसी की गाईडलाईन के अनुसार मजिस्ट्रेटियल जांच हेतु पत्राचार किया गया है। चिकित्सकों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम किया जा रहा है व पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी करायी जा रही है। पुलिस कप्तान ने बताया कि जांच प्रभावित न हो इसलिए स्वाट टीम के 08 पुलिस कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया गया है। मृतक जियाउद्दीन के परिजनों से वार्ता कर अग्रिम कार्यवाही करायी जा रही है।
आपको बताते चलेंकि मृतक ज़ियाउद्दीन के भाई शहाबुद्दीन पुत्र अलाउद्दीन ने स्वाट टीम के खिलाफ अकबरपुर कोतवाली में तहरीर देते हुए मुकदमा दर्ज करने की मांग किया है।
दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव मुजीब अहमद सोनू ने सीधा निशाना प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर लगाते हुए कहा कि पुलिस कस्टडी में ज़ियाउद्दीन की मृत्यु सीएम के ‘ठोक दो’ आदेश पर एक और निर्दोष की हत्या है जिसकी निंदा करते हुए समाजवादी पार्टी आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराने की मांग करती है।