Rate this post

अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट: आलम खान एडिटर) दो दिन पूर्व रात्रि में युवक पर फायर पर जान लेवा हमला करने वालों पर पुलिस ने शिकंजा कसते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजने का दावा किया है। गिरफ्तार हमलावर का दावा है कि उसका निकाह ज़बरदस्ती करा दिया गया था जिसके कारण उसने अपने साथी के साथ मिलकर हमला किया था।
बताते चलेंकि अलीगंज थानाक्षेत्र के हंस तिराहे के पास 30 जनवरी की रात्रि में पुरानी रंजिश के लेकर फायरिंग हुई थी जिसमे अखलाक उर्फ लख्खू कुरैशी घायल हो गया था जिसे सीएचसी टाण्डा से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था। अलीगंज पुलिस ने उक्त घटना के संबन्ध में मुकदमा संख्या 32/23 पर धारा 307 व 120-बी आईपीसी के तहत दर्ज कर लिया था।
उक्त में वांछित अभियुक्तो कि गिरफ्तारी को लेकर पुलिस अधीक्षक अजीत कुमार सिन्हा व अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार राय के द्वारा चलाये जा रहे अभियान के क्रम में क्षेत्राधिकारी टाण्डा सन्तोष कुमार के कुशल मार्ग दर्शन में अलीहज थाना प्रभारी बिजेन्द्र प्रसाद शर्मा को जल्द से जल्द अभियुक्तों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया थ।
अलीगंज प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र शर्मा द्वारा उपनिरीक्षक रामविशाल सिंह के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। मुकदमा उपरोक्त में वांछितों के संबन्ध में एसआई राम विशाल सिंह को सूचना मिली कि अभियुक्त मो. जैद कहीं बाहर भागने की फिराक में है। सूचना पर एसआई रामविशाल सिंह मय हमराह हे कांस्टेबल धनंजय पटेल व कांस्टेबल रामप्रवेश यादव के सूचना पर बताये गये स्थान पर पहुँचे तो एक व्यक्ति की बाहर जाने की फिराक मे जो रुस्तमपुर पुलिया पर खड़ा दिखाई दिया जिसकी पहचान अभियुक्त मो. जैद पुत्र मो. हिदायतुल्लाह निवासी अलीगंज के रुप में हुई।
पुलिस का दावा है कि घटना के क्रम मे पूछताछ करने पर मो०जैद उपरोक्त ने बताया की कुछ माह पूर्व एखलाख उर्फ लक्खू कुरैशी द्वारा एक लड़की से दबाव बनाकर उसका निकाह करा दिया गया था जिस बात को लेकर मेरी एखलाख उर्फ लक्खू कुरैशी से रंजिश हो गयी थी एवं बाबू उर्फ फरीद के साथ मिलकर एखलाख उर्फ लक्खू कुरैशी को सबक सिखाने की योजना बनाने लगा तथा 30 जनवरी की रात्रि करीब 08.30 बजे बाबू उर्फ फरीद के द्वारा बुलाये गये दो लडको के साथ मिलकर अपाची बाइक से एखलाख उपरोक्त पर गोली चलवायी थी जिसमें वो घायल हो गया था।