समाजवादी पार्टी महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष व विधायक अबू आसिम आज़मी की उत्तर प्रदेश में बढ़ती सक्रियता ने राजनीतिक गलियारे में हलचल मचा दिया है। मौजूदा समय में सपा के कद्दावर फायर ब्राण्ड नेता आज़म खान के अस्वस्थ चल रहे हैं तथा उत्तर प्रदेश विधान सभा का चुनाव मुंह खोले सामने खड़ा है। ऐसे में मुस्लिम समाज का कोई फायर ब्रांड नेता फिलहाल उत्तर प्रदेश के सपा की राजनीति में दूर दूर तक नज़र नहीं आ रहा है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देश पर फायर ब्रांड नेता अबू आसिम आज़मी ने उत्तर प्रदेश में अपनी सक्रियता काफी बढ़ा दिया है। पांच दिवसीय उत्तर प्रदेश के दौरे पर आए श्री आज़मी ने कार्यकर्ता जनसंवाद कार्यक्रम के माध्यम से पार्टी में एक नई जान पैदा कर दिया है। राजनीतिक गलियारे में चर्चा भी तेज हो गई है कि समाजवादी पार्टी अबू आसिम आज़मी को उत्तर प्रदेश की राजनीति में फायर ब्रांड नेता विशेष कर मुस्लिम नेता के रूप में सामने रखकर आगामी चुनाव लड़ेगी। चर्चा ये भी है कि फायर ब्रांड सपा नेता आज़म खान की कमी पूरा करने के उद्देश्य से पार्टी ने उन्हें उत्तर प्रदेश में प्रचार प्रसार करने के लिए भेजा है। मूल रूप से आजमगढ़ के रहने वाले अबू आसिम आज़मी महारष्ट्र में सपा के प्रदेश अध्यक्ष का दायित्व निर्वाह कर रहे हैं और पांच दिवसीय दौरे पर लगभग आधा दर्जन जनपदों का दौरा कर कार्यकर्ता जनसंवाद कार्यक्रम के माध्यम से सपा कार्यकर्ताओं में जान फूंकने का काम किया। अपने बीच फायर ब्रांड नेता अबू आसिम आज़मी को पाकर लोगों ने आज़म खान की तरह प्यार व मोहब्बत दिया।
सूत्रों के अनुसार अबू आसिम को पार्टी ने प्रत्येक माह पांच दिन उत्तर प्रदेश में पार्टी का जनाधार बढ़ाने की ज़िम्मेदारी सौंपी है।जनपद अम्बेडकरनगर के सपा जिला महासचिव मुजीब अहमद सोनू ने बताया कि आगमी माह में श्री आज़मी अयोध्या (फैज़ाबाद), अम्बेडकरनगर, बस्ती व सुल्तानपुर जनपद का दौरा हो सकता है। बताते चलेंकि श्री आज़मी द्वारा जुलाई माह के अंतिम सप्ताह में भदोही व आसपास के जनपदों का दौरा किया गया था जबकि अगस्त माह अंतिम सप्ताह में महराजगंज कुशीनगर व आसपास के लगभग आधा दर्जन जनपदों का दौरा किया।
बहरहाल अबू आसिम आज़मी के लगातार उत्तर प्रदेश के दौरे को लेकर राजनीतिक गलियारे में चर्चा तेज़ हो गई है कि फायर ब्रांड सपा नेता आज़म खान के स्थान पर पार्टी फायर ब्रांड नेता अबू आसिम आज़मी को उत्तर प्रदेश की राजनीति में लाकर अस्वस्थ चल रहे श्री खान की कमी को आगामी विधान सभा चुनाव में पूरा करने का प्रयास कर रही है।