अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट: आलम खान एडिटर) विश्व प्रसिद्ध दरगाह हज़रत मौलाना सुल्तान शाह सैय्यद मखदूम अशरफ जहांगीर सिमनानी के साहिबे सज्जादा व ख़ानक़ाह अशरफिया हुसैनिया दरगाह किछौछा के सज्जादानशीन अल्लामा मौलाना सैय्यद शाह मोईनुद्दीन अशरफ (मोइन मियां) को आल इंडिया सुन्नी जमीयतुल उलेमा का अध्यक्ष बनाये जाने पर दरगाह आस्ताना की केंद्रीय ख़ुद्दाम कमेटी ने शनिवार को भव्य स्वागत अभिनन्दन किया। साहिबे सज्जादा श्री मोइन द्वारा ख़ुद्दाम कमेटी के साथ बैठक कर दरगाह किछौछा व आसपास के क्षेत्रों में बढ़ते नशाखोरी (स्मैक, ड्रग्स आदि) को रोकने पर चर्चा की गई। श्री मोइन ने कहा कि नशा इस्लाम धर्म मे हराम है और ये पूरी इंसानियत के लिए एक बदनुमा धब्बा है इसलिए इस धब्बे को मिटाने के लिए हम सभी को एक जुट होकर नशा माफियाओं के खिलाफ खड़ा होना पड़ेगा। साहिबे सज्जादा ने कहा कि अपने नौनिहालों व किशोरों को नशा के चंगुल में फंसने से रोकने के लिए उन्हें इस्लामिक जानकारियां दी जानी चाहिए और अच्छा मौहाल बनाना चाहिए जिससे नशा उन पर हावी ना हो सके।

आपको बताते चलेंकि साहिबे सज्जादा हज़रत सैय्यद शाह मोइनुद्दीन अशरफ द्वारा मुम्बई में नशा (ड्रग्स) के खिलाफ ज़बरदस्त अभियान चलाया जा रहा है जिसके तहत कई दर्जन नशा माफियाओं को जेल की सलाखों के पीछे भेजा जा चुका है। साहिबे सज्जादा द्वारा मुम्बई में चलाई जा रही नशा के खिलाफ मुहिम को खूब सराहना हो रही है।

उक्त मौके पर केंद्रीय सेवाकर समिति आस्ताना दरगाह किछौछा शरीफ के अध्यक्ष हाजी मौलाना मो.कासिम अशरफी ने साहिबे सज्जादा मौलाना सैय्यद शाह मोइनुद्दीन अशरफ का स्वागत करते हुए कहा कि दरगाह आस्ताना से सम्बंधित ख़ुद्दाम समिति साहिबे सज्जादा द्वारा चलाये जाने वाले नशा के खिलाफ का पूर्ण समर्थन करते हुए वादा करती है कि जहां भी ख़ुद्दाम-ए-मखदूम अशरफ की जरूरत होगी वहां सभी ख़ुद्दाम कंधे से कंधा मिला कर खड़े रहेंगे।

ज्ञात रहे कि जनपद के विभिन्न क्षेत्रों को स्मैक माफियाओं ने अपना आशियाना बना रखा है और मात्र चन्द पैसों की लालच में पुलिस भी उनको संरक्षण देने में जुटी रहती है जिससे समाज मे बुराइयां बड़ी तेजी से बढ़ती जा रही है। उक्त मौके पर केंद्रीय ख़ुद्दाम समिति असताना दरगाह किछौछा शरीफ के अध्यक्ष मौलाना मोहम्मद कासिम अशरफी, लल्लू खादिम, लड्डू खादिम, फ़िरोज़ खान किछौछवी आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे और साहिबे सज्जादा को फूल मालाओं से लाद दिया गया।
आल इंडिया सुनने जमीयतुल उलेमा के अध्यक्ष साहिबे सज्जादा मौलाना सैय्यद शाह मोइनुद्दीन अशरफ द्वारा ख़ुद्दाम तंजीम के साथ बैठक कर मखदूम पाक की जमीन से नशा (ड्रग्स, स्मैक आदि) को जड़ से समाप्त करने की दिशा में सराहनीय फल की गई है जिसकी भूरी-भूरी सराहना हो रही है।