अम्बेडकरनगर (सूचना न्यूज़ कार्यालय) अबु आसिम आज़मी समाजवादी पार्टी का मुस्लिम चपरासी हैं और ये वही लोग हैं जो वोट लेने के लिए अपने आका के हुक्म से अपनी बिलों से निकल आते हैं और मुस्लिम मतों का सौदा अपने आकाओं से गद्दी हासिल करते हैं लेकिन जब मुस्लिम समाज के ऊपर कोई आफत आती है तो ये अपने आकाओं की तरह गूंगे व बहरे बन जाते हैं।
उक्त बातें ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लेमीन के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने मुंडेरा चौक में मंगलवार रात्रि में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के साथ समाजवादी पार्टी पर भी जमकर प्रहार किया। श्री शौकत का बसखारी से लेकर हीरापुर मुंडेरा में भव्य स्वागत किया गया। उमड़ी भीड़ को संबोधित करते हुए उन्होंने सपा के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष अबू आसिम आज़मी को सपा का चपरासी बताते हुए कहा कि जब चुनाव करीब आता है तो ये लोग अपने आका के हुक्म से बिलों से निकल कर मुस्लिम वोटों का सौदा करते हैं और अपने आकाओं को खुश करके अपमी गद्दी हासिल करते हैं लेकिन जब मुस्लिम समुदाय पर मुसीबत आती है तो अपने आकाओं की तरह अपनी बिलों में छिपे रहते हैं और जैसे ही चुनाव आता है तो अपने आका के हुक्म से अपनी लच्छेदार बातों से मुस्लिम मतों को अपनी तरफ आकर्षित करते है लेकिन अब आम मुसलमान भी इन दोहरे चेहरे वालों को समझ चुका है।
हंसवर थानाक्षेत्र के मुंडेरा चौक में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे पूर्व प्रदेश सचिव इरफान पठान ने बीजेपी व आरएसएस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मुस्लिमों ने हिन्दू, जैन, बौद्ध आदि की धार्मिक किताबों में तमाम कुरीतियां होने के बावजूद कभी भी कोई बदलाव करने की बात नहीं किया लेकिन बीजेपी व आरएसएस के लोग लगातार इस्लाम की शरीयत में दख़ल देते हैं जबकि शरीयत में एक नुक्ता की भी कमी नहीं है। श्री पठान ने कहा कि मुसलमानों के पास सियासी ताकत ना होने के कारण इन लोगों की जुबान खुलती है इसलिए एक जुट होकर मुस्लिम रहनुमा चुने और इनकी बोलती बंद कराने का काम करें।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से फारुख ज़फर, उमर शोएब, सरफ़राज़ खान, सैफ खान, मेराज़, सालिम अंसारी, शरीफ, आलमगीर, अरशू रहमान, तककदूस हुसैन, शिबू शेख, गुलाम किबरिया, इमरान आलम गोपीनाथ आदि मुख्य रूप से मौजूद रहे।