सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट: आलम खान एडिटर/मान्यता प्राप्त पत्रकार) आगामी लोक सभा चुनाव 2024 का बिगुल कभी भी बज सकता है। जनपद में सपा ने जहां लालजी वर्मा को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है वहीं भाजपा ने भी पहली ही सूची में रितेश पांडेय को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया। बसपा ने फिलहाल प्रत्यशियों की सूची नहीं जारी किया लेकिन अम्बेडकर नगर में संभावित प्रत्याशी मो.कलाम शाह का तूफानी दौरा जारी है वहीं एआईएमआईएम के संभावित प्रत्याशी मुराद अली भी अनवरत दौरा कर जन समर्थन मांगते नज़र आ रहे हैं।

अम्बेडकरनगर के लोकसभा चुनाव में जहां 06 बार के विधायक लालजी वर्मा के सामने हैं सांसद रितेश पांडेय हैं वहीं मो.कलाम शाह व मुराद अली भी जनपद के लोकसभा चुनाव का समीकरण को बिगाड़ सकते हैं।

बसपा के संभावित प्रत्याशी मो.कलाम शाह ने अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती रह. की दरगाह पर हाजिरी लगा कर चुनाव प्रचार की शुरुआत कर दिया है। श्री कलाम का विश्व विख्यात दरगाह मखदूम अशरफ किछौछा से गहरा रिश्ता है। श्री कलाम के पिता स्वर्गीय कलाम शाह दरगाह मलंग के सज्जादानशीन थे और मौजूदा समय मे उनके बड़े भाई आलम शाह भी मलंग सज्जादानशीन हैं। श्री कलाम का दावा है कि बसपा प्रमुख्य बहन मायावती से उनकी व्यक्तिगत मुलाकात के दौरान उन्हें चुनाव लड़ाने का पूर्ण विश्वास दिलाया है। श्री कलाम भारी लाव लश्कर के साथ क्षेत्र भ्रमण कर जनसमर्थन की अपील कर रहे हैं।
एआईएमआईएम जिलाध्यक्ष मुराद अली ने भी लोकसभा चुनाव में ताल ठोंक दिया है। श्री मुराद अनवरत क्षेत्र भ्रमण कर रहे हैं और उनका दावा है कि एआईएमआईएम आगमी लोकसभा चुनाव में बड़ी मज़बूती से चुनाव लड़ेगी। श्री मुराद ग्रामीण क्षेत्र के अलावा नगरीय क्षेत्र में भी अपनी पैड बनाने में लगे हुए हैं।
कांग्रेस इंडिया गठबन्ध में जनपद की सीट सपा के खाते में गई तो सपा ने राजनीतिक चाणक्य माने जाने वाले पूर्व मंत्री व 06 बार के विधायक लालजी वर्मा पर अपना दांव लगा दिया। टांडा व कटेहर विधानसभा को श्री लालजी की राजनीतिक भूमि कहा जाता है हालांकि उनकी पुत्री डॉक्टर छाया वर्मा ने भी जलालपुर विधानसभा में शानदार प्रदर्शन किया था। बसपा शासनकाल में मंत्री रहते हुए श्री लालजी द्वारा महामाया मेडिकल कॉलेज ही नहीं बल्कि टांडा-कलवारी पुल के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किया था तथा सैकड़ों लोगों को रोजगार से लगाने का श्रेय भी लालजी वर्मा पर जाता है। सपा प्रत्याशी लालजी वर्मा व उनके समर्थक पूरी तरह से मैदान में उतर चुके हैं और अपने शुभचिंतकों तक पहुंच कर देश की सबसे बड़ी सदन का सदस्य बनाने की अपील कर रहे हैं। सपा प्रत्याशी लालजी वर्मा को कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं का भी समर्थन मिल रहा है।
दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने सपा बसपा गठबंधन में बसपा के सिम्बल पर सांसद बने रितेश पांडेय पर दांव लगाया है। श्री रितेश को राजनीति विरासत में मिली है। उनके पिता राकेश पांडेय भी अम्बेडकर नगर से बसपा के सिम्बल पर सांसद रह चुके हैं और मौजूदा समय मे सपा के सिम्बल पर जलालपुर के विधायक हैं। श्री रितेश के चाचा पवन पांडेय व कक्कू पांडेय ने भी राजनीतिक में अपना अलग मुकाम बनाया है। सांसद रहते हुए रितेश पांडेय का पराली ना जलाने को लेकर जागरूकता मैराथन दौड़ एवं प्रदेश स्तरीय फुटबॉल मैच का आयोजन सदैव चर्चा में रह है। बसपा सांसद रहे रितेश पांडेय अब भाजपा की शरण में पहुंच कर पुनः देश के सबसे बड़े सदन में जाना चाहते हैं हालांकि उनके पिता अभी भी सपा की साइकिल पर सवारी कर रहे हैं जो चर्चा का विषय बना हुआ है। श्री रितेश का आगामी 07 फरवरी को जनपद आगमन होने जा रहा है।
बहरहाल जनपद में लोकसभा चुनाव का रंग चढ़ चुका है और हर कोई अपने अपने हितानुसार क्षेत्र में चर्चाएं कर रहा है तथा आदर्श आचार संहिता लागू होने का बड़ी बेसब्री से इंतज़ार भी हो रहा है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now