सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: दारुल उलूम मदरसा मंज़रे हक की तरफ से एलान किया गया है कि आगामी 09 व 10 अप्रैल के बीच की रात्रि में मनाई जाने वाली शबे बारात पर लॉक डाउन का पालन करते हुए अपने-अपने घरों से ही मरहूमों के शवाब के लिए दुआएं करें।
प्रसिद्ध मदरसा मंज़रे हक द्वारा जारी प्रेस नोट के माध्यम से आमजनों को सूचना दी गई है कि इस्लामिक कलेंडर के रजब माह के 29 तारीख को चाँद की शरई तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी थी है जिसके कारण शबे बारात आगामी 09 व 10 अप्रैल की रात्रि अर्थात 09 अप्रैल के दिन बीतने के बाद आने वाली रात्रि को शबे बारात होगी। मदरसा द्वारा एलान किया गया कि कोविड-19 की महामारी के कारण लागू लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन करें एयर शबे बारात पर अपने-अपने घरों पर ही रहकर मरहूमों (मृतकों) के लिए दुआएं करें। उक्त प्रेस नोट के माध्यम से अपील की गई है कि कोरोना वायरस की वबा (महामारी) के कारण देश मे लागू लॉक डाउन के दौरान सभी लोग घरों में रहें और कहीं भी भीड़ ना लगाएं। घरों व आसपास में सफाई विशेष कर हाथों की सफाई का ख्याल रखें तथा घरों में ही नमाज़ों की पाबंदी करते हुए दरूद पाक व अस्तग़फ़ार (विशेष दुआ) को खूब पढ़ें तथा अल्लाह पाक (ईश्वर) से महामारी से निजात (छुटकारा) दिलाने की दुआ करें।
आपको बताते चलेंकि शबे बारात के अवसर पर अपने खानदान के मरहूमों (मृतकों) के लिए विशेष दुआ (मुक्ति की प्रार्थना) की जाती है लेकिन लॉक डाउन के कारण इस वर्ष सभी को अपने घरों में ही रहकर दुआएं करनी होगी।सामूहिक नमाज़ पढ़ने के मम्मले में डेढ़ दर्जन लोगों पर दर्ज हुआ मुक़दमा – जनाइये नाम

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now