सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: कोरोना वायरस (कोविड-19) की विश्व स्तरीय महाजंग पर विजयश्री प्राप्त करने के लिए देश में लागू हुए लॉक डाउन के बाद जनपद में हज़ारों निर्धन असहाय परिवारों के सामने पेट की आग बुझाने की बड़ी चुनौती खड़ी हो गई लेकिन सामाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने बढ़चढ़ कर सहयोग करना शुरू किया तो जरूरतमंदों ने राहत की सांस लिया। लॉक डाउन के कारण दिहाड़ी मज़दूरों, ठेला आदि लगाने वालों के सामने पेट की आग बुझाने की बड़ी चुनौती थी लेकिन जिला मुख्यालय सहित जनपद के सभी कोनों पर प्रशासन के अलावा सामाजिक व राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया जिससे जरूरत मंदों के चेहरों पर मुस्कान नज़र आई। जिला मुख्यालय पर मदरसा फ़ैज़ गरीब नवाज के प्रबंधक बरकत अली व पत्रकार शबी अब्बास द्वारा लगातार असहाय लोगों की थाली में भोजन परोसने का काम जारी है जबकि गाजी फाउंडेशन के अध्यक्ष मुराद अली अपने समर्थकों के साथ लगातार असहाय परिवारों में रसद वितरण करते नज़र आ रहे हैं। नगर पालिका अध्यक्ष सरिता गुप्ता, समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला महासचिव मो.अकमल उर्फ जुगनू सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के दर्जनों लोग असहाय व जरूरतमन्दों तक रसद व आर्थिक सहायता पहुंचाने में जुटे हुए हैं।
औद्योगिक बुनकर नगरी टाण्डा के मेला गार्डेन में वर्षों से जारी लँगर लगातार जारी है जहाँ भोजन करने वालों की बड़ी संख्या उमड़ रही हैएआईएमआईएम के प्रदेश सचिव इरफान पठान के नेतृत्व में पूरे विधान सभा क्षेत्र में रसद का वितरण किया जा रहा है। श्री पठान द्वारा प्रशासन से विधिवत लिखित परमिशन लेकर वाहनों से रसद जरूरतमन्दों तक पहुंचाया जा रहा है। समाजवादी पार्टी के जिला महासचिव मुजीब अहमद सोनू व नगर अध्यक्ष कसीम अशरफ द्वारा संयुक्त रूप से गुपचुप ढंग से लगातार खाद्यान का वितरण नगर व ग्रामीण क्षेत्रों में किया जा रहा है।हेल्प प्वाइंट एनजीओ द्वारा रसद के अतिरिक्त काफी मध्य वर्गीय व आर्थिक रूप से परेशान लोगों की गुपचुप ढंग से आर्थिक मदद की जार ही है। चिंतौरा निवासी मो.आमिर पाने साथी दानिश बनारसी, शादाब खान, शाकिर, नबी अहमद आदि कर साथ रात्रि के अंधेरे में गुप्त मदद कर रहे हैं।टाण्डा विधायक संजू देवी, चेयरमैन रेहाना अंसारी, अखिल भारतीय व्यापार मंडल के संतोष अग्रवाल, व्यापारी शंकर गुप्ता आदि में भी रसद वितरण किया। फाइन फीलिंग स्टेशन के सैय्यद एहसान, पंख संस्था के अंशु बग्गा, हेल्पिंग हैंड्स के मो.अकमल, जमाल कामिल उर्फ राजू सभासद, कांति सेवा संस्थान के अर्पित श्रीवास्तव, मदर टरेसा फाउंडेशन के डॉक्टर अहमद वकारुल हसन इनाम आदि के अतिरिक्त काफी संख्ता में लोग गुप्त ढंग से असहाय व जरूरतमन्दों की मदद कर रहे हैं।भाजपा जिलाध्यक्ष कपिलदेव वर्मा अपने समर्थकों के साथ अस्वस्थ होने के बावजूद रसद पहुंचाने में जुटे हुए हैं। गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा छज्जापुर के अध्यक्ष अमरजीत सिंह के नेतृत्व में लगातार भोजन की पैकेट का वितरण हो रहा है। इसलामिक धार्मिक संस्था अदारे शरैय्या द्वारा भी जरूरतमंदों का चिन्हित कर रसद वितरित किया गया।कोरोना वायरस की लड़ाई में लॉक डाउन के दौरान विश्व प्रसिद्ध दरगाह किछौछा में मौजूद हज़ारों जायरीनों व अकीदतमंदों की सेवा में स्थानीय लोग कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऑल इंडिया बज़्मे अशरफ के अध्यक्ष सैय्यद हैदर किछौछवी व नेशनल जरनल सेक्रेटरी मौलाना आरफ़ अशरफ किछौछवी अपने तीन दर्जन अधिक साथियों के साथ प्रतिदिन 1500 पैकेट भोजन जरूरतमंदों तक पहुंचाने में जुटे हैं जबकि पीरजादगाने इंतेजामिया कमेटी से जुटे लोग भी मौजूद जायरीनों व असहायों तक भोजन पहुंचाने की मुहिम चला रखी है। दरगाह में एआईएमआईएम के सरफ़राज़ अहमद आदि भी जरूरतमन्दों तक रसद पहुंचाने में जुटे हैं। श्री नमो डिहवारे बाबा सेवा संस्थान से जुटे भाजपा नेता ओमकार गुप्ता अपने साथियों के साथ दरगाह परिक्षेत्र के एक किमी के दायरे में भोजन पहुंचाने की ज़िम्मेदारी उठा रहे हैं। दरगाह में कांग्रेस को लौ को जलाए इमरान गांधी द्वारा भी जायरीनों के कमरों तक भोजन पहुंचाने का काम जारी है।हेल्प प्वाइंट एनजीओ की हीरापुर टीम द्वारा ज़बरदस्त रसद वितरण का कार्य किया जा रहा है। संस्था के बबलू खान, शाहिद खान, इमरान सिद्दीकी, शोएब खान आदि लगातार डायल-112 व स्थाई पुलिस के द्वारा सुझाये गए जरूरत मन्दों तक तत्काल रसद पहुंचाने के प्रयास कर रही है। भुलेपुर व आसपास के क्षेत्र में पूर्व विधायक हाजी अजीमुलहक पहलवान के निर्देश पर उनके पुत्र इंजीनियर मुसाब अज़ीम स्वयं जरूरत मन्दों तक रसद पहुंचाने में जुटे हैं। हंसवर परिक्षेत्र में सपा नेता व समाजसेवी शाद सिद्दीकी अपनी टीम के साथ लोगों का सहयोग कर रहे हैं। बहरहाल पूरे जनपद में प्रशासन के अतिरिक्त सामाजिक व राजनीतिक कार्यकर्तों द्वारा लगातार जरूरतमन्दों तक राहत सामग्रियां पहुंचाई जा रही है। कई सामाजिक संस्थाएं खुल कर सामने आईं हैं तो कई लोग जरूरत मन्दों तक गुप्त ढंग से मदद पहुँचा रहे हैं। आपदा के समय सामाजिक कार्यकर्ताओं के बढ़े हुए हाथ से जरूरतमन्दों के पेट की आग बुझ रही है जिसकी हर कोई सराहना कर रहा है।
(नोट: काफी संख्या में गुप्त मदद का सिलसिला भी जारी है जिनका नाम समाचार में नहीं दिया गया है)

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now