सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: लॉक डाउन के दौरान किछौछा में आवश्यक कार्यों के लिए भी लोगों का बाहर निकलना दुश्वार हो चुका है। आटा लेकर घर लौट रहे युवक को सिपाहियों ने बेदर्दी से पिटाई कर दिया जिसमें पीड़ित के हाथों में गंभीर चोटें आई है। दबंग सिपाही को तत्काल ना हटाने पर रविवार से सम्पूर्ण किछौछा परिक्षेत्र की दुकानों को पूरी तरह बंद करने की चेतावनी दी गई है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार बसखारी थाना क्षेत्र के किछौछा चौकी पर तैनात सिपाही अमित मौर्य लॉक डाउन के दौरान धर्म विशेष को निशाना बना कर लगातार लोगों की बेदर्दी से पिटाई करता आ रहा है। शनिवार शाम को मो.नसीम निवासी वार्ड नम्बर 03 मुजफ्फरनगर आटा लेने के लिए निजममुद्दीनपुर गया था जहां से आटा लेकर वापस लौट रहा था और इस बीच पहुंचे सिपाहियों ने उससे आटा नीचे रखने को कहा। पीड़ित का आरोप है कि आटा नीचे रखते ही लाठियों से जमकर पिटाई शुरू कर दी गई।
नगर पंचायत अशरफपुर किछौछा के अध्यक्ष पति सैय्यद गौस अशरफ (गौसी मियाँ) ने लॉक डाउन के दौरान आवश्यक कार्यों से बाहर गए लोगों की अकारण पिटाई करने वाले सिपाही को तत्काल हटाने की मांग किया है। श्री अशरफ ने चेतावनी दिया कि अगर तत्काल प्रभाव से सिपाही अमित मौर्य को नहीं हटाया गया तो लॉक डाउन के दौरान किछौछा में खुलने वाली दुकानों को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा और फिर पुलिस डोर-टू-डोर सामानों को पहुंचवाने की व्यवस्था करेगी।
बहरहाल श्री अशरफ ने पुलिस के उच्च अधिकारियों से शिकायत का दावा करते हुए कहा कि जहां आम जनता लॉक डाउन का पालन करते हुए एक साथ मिलकर कोरोना की जंग लड़ रहे हैं वहीं चंद सिपाही अपनी ताकत का नाजायज़ फायदा उठाते हुए पूरे पुलिस विभाग को बदनाम करने में जुटे हैं इसलिए ऐसे पुलिस कर्मियों को चिन्हित कर तत्काल प्रभाव से हटाया जाना चाहिए।

लक डाउन के दौरान तीसरी आंख से हो रही ह निगरानी

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now