जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की सतर्कता का दावा निकला खोखला – घण्टों बाद पहुंची टीम तब मचा हड़कम्प

Sharing Is Caring:
सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: मुम्बई से लौटी 35 वर्षीय महिला खाँसी, जुखाम, तेज़ बुखार व सांस लेने में दिक्कत की शिकायत सुबह से ही करती रही। स्थानीय पुलिस, ब्लाक कर्मी, लेखपाल, एसडीएम सीएमओ आदि सब से बारी-बारी गोहार लगाई गई लेकिन सभी मात्र आश्वासन देते नजर आए लेकिन मीडिया के दबाव में जब स्वास्थ विभाग की एक टीम पहुँची तो हड़कम्प मच गया और आननफानन में दूसरी एम्बुलेंस बुला कर महिला को ले जाया गया।


प्राप्त जानकारी के अनुसार महरुआ थानाक्षेत्र के मंशापुर गाँव के छोटके पुरवा निवासी कालेदीन की 35 वर्षीय पत्नी श्रीमती देवी मुम्बई से वापस आई तो तेज़ बुखार, जुखाम, खाँसी व सांस लेने में काफी दिक्कत की शिकायत करने लगी और देखते ही देखते गाँव में शोर मच गया कि श्रीमती देवी को कोरोना वायरस का संक्रमण हो गया है। ग्राम प्रधान व उनके सहयोगियों ने स्थानीय थानाध्यक्ष, लेखपाल, ग्राम सचिव, एएनएम आदि को तत्काल सूचना दिया लेकिन कोई असर नहीं हुआ जिसके बाद अकबरपुर विधायक प्रतिनिधि व समाजसेवी बाल मुकुंद धुरिया ने एसडीएम, सीएमओ आदि को फ़ोन किया जिसके बाद भी सिर्फ टीम भेजने की बात बताई गई जबकि टीम नहीं पहुंची। आखिरकार मीडिया के हस्तक्षेप के बाद देर शाम में स्वास्थ्य विभाग की जब एक टीम पहुंची और मरीज का लक्षण देखा तो हड़कम्प मच गया और आननफानन में दूसरी एम्बुलेंस मंगाई गई जिससे बड़ी सतर्कता के साथ श्रीमती देवी को जिला अस्पताल ले जाया गया। ग्रामीणों में आक्रोश के साथ भय का माहौल भी बना हुआ है। स्थानीय प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग अगर कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए गंभीर होता तो सुबह ही श्रीमती देवी का परीक्षण हो गया होता। घंटों बाद जागा स्वास्थ्य विभाग फिलहाल श्रीमती देवी के सम्बंध में कुछ भी स्पष्टीकरण नहीं दे रहा है। दो दिन पूर्व टाण्डा नगर के छज्जापुर में एक महिला के संक्रमण की चपेट में आने की चर्चा हुई थी तथा अकबरपुर स्थित श्री वस्त्रालय के परिवार से भी इसी तरह की चर्चाएं थी तथा जनपद में कई संदिग्ध मरीजों की सूचनाएं सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है लेकिन प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई भी सही जानकारी नहीं प्रदान की जा रही है और ना ही किसी तरह का ओर्स नॉट जारी कियाजा रहा है जिसको लेकर आम नागरिकों में भी आक्रोश व्याप्त है और हर कोई सही हालात से रूबरू होना चाहता है।

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!