जनपद को ग्रीन जोन बनाने में सेवाहि धर्म: टीम की है विशेष भूमिका

Sharing Is Caring:

“21 लाख से अधिक रुपये खर्च कर अपनी जान को जोखिम में डाल कर महाजंग में कूदे वरिष्ठ समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा की खूब हो रही है प्रशंसा”

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर जनपद में महामारी कोरोना वायरस के पास्टिव मरीजों की संख्या ना मिलने के कारण इस जिले को ग्रीन जोन में रखा गया है और इसी लिए गृह मंत्रालय के निर्देश पर आम जन जीवन को पुनः अपनी स्थिति में लाने का प्रयास लॉक डाउन के तीसरे चरण के दौरान शुरू किया गया है। कोरोना योध्याओं में जहाँ प्रशासनिक अमले सहित चिकित्सकों, सफाई कर्मियों, पुलिस कर्मियों व पत्रकारों की महत्वपूर्ण गिनती होती है वहीं व्यापारी वर्ग सहित सामाजिक व राजनीतिक लोगों के योगदान को भी नहीं भूला जा सकता है।जनपद को ग्रीन जोन में लाने के लिए प्रशासनिक, पुलिस व सफाई कर्मियों ने जहां दिन रात एक कार रखा था वहीं सेवाहि धर्म: टीम लाखों रुपये की लागत से पूरे जनपद में हैंड व होम सैनिटाइजर का निःशुल्क वितरण करने के साथ नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों को सैनिटाइजर कर रही थी। सेवाहि धर्मा टीम के संरक्षक वरिष्ठ समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा अपने एक दर्जन से अधिक साथियों के साथ स्वयं महामारी के खिलाफ शुरू विश्व स्तरीय महाजंग में कूद गए हैं। श्री बग्गा ने प्रथम लॉक डाउन के दौरान जहां 11 लाख रुपिया की लागत से 50 लाख हैंड सैनिटाइजर व 50 लाख लीटर होम सैनिटाइजर के वितरण कर प्रशासनिक अमले को सोचने पर मजबूर कर दिया था वहीं लॉक डाउन के दूसरे चरण के दौरान पुनः 10 लाख रुपये की लागत से 50 लाख हैंड सैनिटाइजर सीसी व 50 लाख लीटर होम सैनिटाइजर देश को समर्पित कर दिया। लॉक डाउन के प्रथम व दूसरे चरण के दौरान 21 लाख रुपये की लागत से एक लाख हैंड सैनिटाइजर सीसी व एक लाख लीटर होम सैनिटाइजर का वितरण करने वाले श्री बग्गा ने कहा कि तीसरे लॉक डाउन के दौरान भी हैंड व होम सैनिटाइजर का का वितरण जारी रहेगा और इसके लिए चाहे जितना पैसा लगे बिना हिचके वो लगाते रहेंगे।
श्री बग्गा व सेवाहि धर्मा: टीम की जिला व स्थानीय प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों स्वास्थ विभाग आदि सहित राजनीतिक व सामाजिक लोगों द्वारा भूरी-भूरी सराहन की जा रही है। जनपद को ग्रीन जोन का तमगा दिलाने में वरिष्ठ समाजसेवी श्री बग्गा व सेवाहि धर्म: टीम की विशेष भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता है। सोशल मीडिया पर श्री बग्गा के सराहनीय कार्यों की खूब प्रशंसा हो रही है तथा अधिकांश लोग यही बात करते नज़र आ रहे हैं कि जनपद को ग्रीन जोन की श्रेणी में खड़ा करने में श्री बग्गा व उनकी टीम का अहम योगदान रहा। आपको बताते चलेंकि जनपद से लगे लगभग सभी जनपदों में से मात्र अम्बेडकरनगर ही ग्रीन जोन में है क्योंकि सिर्फ इसी जनपद में कोई भी कोरोना वायरस के पास्टिव मरीज नहीं मिला था।

टाण्डा: घाघरा नदी के इस घाट से प्रतिदिन सैकड़ों लोगों का है आनाजाना

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!