सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: टाण्डा नगर पालिका अध्यक्ष व दर्जनों सभासद ने नगर पालिका ईओ के मनमाने रवैय्ये की शिकायत गुरुवार को उप जिलाधिकारी से किया जिस पर एसडीएम ने शीघ्र बैठक कर मामले को निस्तारण कराने का आश्वासन दिया।
टाण्डा नगर पालिका प्रशासन द्वारा नगर के विभिन्न स्थानिन पर कैम्प लगाकर हाउस टैक्स व वाटर टैक्स की ज़बरदस्त वसूली की जा रही है तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रो के माध्यम से टैक्स जमा करने की नसीहत देते हुए ना जमा करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की चेतावनी भी दी जा रही है। दस वर्षों में पहली बार टैक्स वसूली की रफ़्तार तेज़ करने को लेकर जहां नगर पालिका अध्यक्ष रेहाना अंसारी व अधिशाषी अधिकारों मनोज कुमार सिंह के बीच नूरा कुशती जारी है वहीं आम नागरिकों के आक्रोश के बाद सभासदों ने भी मामला उठाना शुरू कर दिया है। दर्जनों सभासदों ने नगर पालिका अध्यक्ष के समक्ष नागरिकों में आक्रोश का दुखड़ा रोया तो पालिका अध्यक्ष ने सभासदों व नगर पालिका प्रशासन के बीच सामंजस्य बैठाने के उद्देश्य स्व नगर पालिक में ही बैठक आहुति किया। बैठक में जहां लगभग डेढ़ दर्जन सभासद पहुंचे वहीं ईओ सहित सभी संबंधित अधिकारियों ने बैठक में आना गवारा नही। किया जिसव नाराज़ सभासदों ने नगर पालिका कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन करने की बात करने लगे लेकिन नगर पालिका अध्यक्ष रेहाना अंसारी ने सभासदों को समझाबुझा कर मामला शांत कराया और सभासदों के कहने ओर उप जिलाधिकारी से शिकायत करने तत्काल तहसील कार्यलय पहुंच गए। उप जिलाधिकारी अभिषेक पाठक ने नगर पालिका अध्यक्ष व सभासदों की शिकायत को गंभीरता पूर्वक सुनते हुए कहा कि क्षेत्र के वुकास के लिए नगर पालिका प्रशासन व सभासद के बीच सामंजस्य होना अतिआवश्यक है इसलिए शीघ्र नगर पालिका ईओ व अन्य अधिकारियों के साथ चेयरमैन की बैठक अपने समक्ष कराएंगे। नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती अंसारी का कहना है कि हाउस टैक्स का दो गुना वाटर टैक्स वसूला जा रहा है जबकि 2016 की बोर्ड बैठक में नागरिकों को टैक्स से निजात दिलाने के लिए प्रस्ताव पास किया गया था जिसके सम्बन्ध में नगर पालिका अधिकारी कोई पत्रावली दिखाने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अधिशाषी अधिकारी अपने मनमाने रवैय्ये को लेकर हाउस टैक्स व वॉटर टैक्स के नाम पर आम जनता को परेशान कर रहे हैं जिसको लेकर जनता में आक्रोश व्यापत है। नगर पालिका टैक्स ऑफिसर उमाशंकर सरोज ने बताया कि जिस बोर्ड बैठक में हाउस व वॉटर टैक्स को निरस्त करने की बात को जार ही है उस मामले को तत्कालीन मंडल कमिश्नर ने निरस्त कर दिया था।
बहरहाल नगर पालिका अध्यक्ष व सभासदों तथा नगर पालिका प्रशासन के बीच चल रही नूराकुश्ती अब खुल कर आमने आ गया है जिसका मामला उप जिलाधिकारी के समक्ष पहुंच चुका है जिसपर उन्होंने दोनों पक्षों में शीघ्र वार्ता करा कर सामंजस्य बैठाने का प्रयास किया जाएगा।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now