बिना नोटिस भेजे सीधा मुकदमा दर्ज कराना लोकतन्त्र की आवाज को दबाने जैसा – पत्रकार वेलफ़ेयर सोसाइटी

Sharing Is Caring:
सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

बलिया पत्रकार वेलफ़ेयर सोसाइटी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष आशुतोष पांडेय ने एक टीवी चैनल के सम्पादक अर्नव गोस्वामी के ऊपर किसी खबर को लेकर सीधा मुक़दमा करना गलत था। इसके बाद उसी पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं द्वारा रात्रि में परिवार संग घर जा रहे सम्पादक के ऊपर हमला करना निंदनीय है। श्री पाण्डेय ने पत्रकार समूहों से अपील किया कि इस घटना को लेकर आप एक हो नही तो आये दिन ऐसे दुर्घटना हम सभी के साथ होती रहेगी। पत्रकार वेलफ़ेयर सोसाइटी के प्रदेश सदस्यों से संचार माध्यम से वार्ता कर श्री पाण्डेय ने पत्रकार और प्रेस की रक्षा के लिए सरकार से उक्त सम्पादक की सुरक्षा और घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों के साथ उनके मालिको पर भी केस दर्ज कर कार्यवाही की जाय। श्री पाण्डेय ने कहा कि अगर आप सम्पादक की बातों से खफा थे तो पहले नोटिस भेज कर जबाब मांगते लेकिन सीधा मुकदमा करा देना लोकतन्त्र की आवाज को दबाना कहा जाता है। इसके बाद भी प्रतिबंधित केमिकलो और हथियारों से लैस कार्यकर्ताओं से हमला कराना निंदनीय है। पत्रकार वेलफ़ेयर सोसाइटी के सदस्यों ने निंदा प्रस्ताव के साथ 5 सूत्रीय मांग को लेकर जल्द ही राज्यपाल से मिलकर प्रधानमन्त्री के नाम सम्बोधित पत्र देगें। निंदा करनेे वालो में वरिष्ट पत्रकार अखिलेश सैनी रविशंकर शर्मा, मयंक पाण्डेय, दुर्गेश चितोड़िया, राकेश पाल, घनश्याम यादव, मनीष श्रीवास्तव, शनि विश्वकर्मा, अजय कुमार, आशीष अग्रवाल, विपलेश कृष्ण पाण्डेय आदि प्रदेश पदाधिकारियों ने किया।

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!