पीएम किसान सम्मान निधि सूची पर कांग्रेस नेता ने उठाया बड़ा सवाल

Sharing Is Caring:

“लाभार्थियों की संख्या अधिक दिखाने को हुई है आंकडेबाजी, उच्चस्तरीय जांच की मांग”

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: प्रधानमंत्री किसान सम्माननिधि योजना महज आंकड़ेबाजी का खेल बनकर रह गयीहै, सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दावा किया था प्रदेश के दो करोड चार लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की किश्त दी गई है परन्तु लाभार्थियों की जारी हुई सूची संदेहास्पद है।
उक्त आरोप लगाते हुए सोशल एक्टिविस्ट कांग्रेस कार्यकर्ता रेहान ने बताया कि अनवरत शिकायत मिलने पर उन्होंने पीएम किसान सम्मान निधि की पड़ताल की फिर जो तथ्य आये हैं वह चौंकाने वाले हैं। उन्होंने बताया कि एक ही नाम की कई बार पुनरावृत्ति हुई है, जिससे प्रतीत होता है लाभार्थियों की संख्या ज्यादा दिखाने हेतु आंकडो मे खेल हुआ है जनपद अम्बेडकरनगर की तहसील अकबरपुर के ग्रामसभा अफजलपुर की लाभार्थियों की सूची मे में क्रम संख्या 3 व 4 पर दो बार आमिना खातून नाम दर्ज है जबकि भूलेख वेबसाइट पर ग्राम सभा अफजलपुर में आमिना-नसरूलाह नाम की एक ही किसान प्रर्दशित हो रही है इसी प्रकार भीटी तहसील के ग्राम सभा आमी के लाभार्थियों की सूची की क्रम संख्या 5 व 6 पर अमर नाथ नाम दो दर्ज है जबकि भूलेख पर अमरनाथ-परशुराम नाम एक ही किसान का प्रर्दशित हो रहा। तहसील जलालपुर की ग्राम सभा सम्मनपुर की लाभार्थियों की सूची मे क्रम संख्या 189 व 190 पर कयामुद्दीन दो बार दर्ज है जबकि भूलेख पर सम्मनपुर में कयामुद्दीन-कामिल एक ही प्रर्दशित हो रहा है सम्मनपुर की ही लाभार्थियों की सूची मे क्रम संख्या 4, 5 व 6 पर अब्दुल हुसैन नाम दर्ज है जबकि भूलेख वेबसाइट पर सम्मनपुर ग्रामसभा मे अब्दुल हुसैन नाम का किसान प्रर्दशित ही नही हो रहा है। टांडा तहसील के ग्राम सभा अलीगंज की लाभार्थियों की सूची मे क्रम संख्या 160, 161 व 162 पर संदीप कुमार दर्ज है, जबकि भूलेख पर संदीप कुमार-कृष्ण कुमार एक ही किसान प्रर्दशित हो रहा है।इस प्रकार लगभग प्रत्येक ग्राम सभा की प्रधानमंत्री सम्मान निधि लाभार्थियों की सूची मे एक ही नाम कई क्रमांक पर दर्ज है जिससे योजना का लाभ पाने वाले लाभार्थियों का आंकडा बढ रहा है जबकि वह संख्या कम है। रेहान ज़ैदी द्वारा उक्त खुलासा करने के बाद कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामकुमार पाल ने आरोप लगाया कि भाजपा ने आंकड़ों की बाजीगरी से जनता को गुमराह करने का काम किया है और ऐसा करके राष्ट्रीय स्तर पर करोड़ो का झूठा दावा किया गया है, भाजपा झूठ की राजनीति से बाज आये।
उन्होंने पीएम किसान सम्मान निधि की गड़बड़ियों को अविलंब ठीक करने के साथ उच्च स्तरीय जांच की मांग की. उक्त अवसर पर डॉक्टर विजय शंकर तिवारी, विकल्प मिश्रा, दीपक शर्मा, सुखीलाल वर्मा, एडवोकेट अख्तर जमाल, गुलाम रसूल छोटू, शहबाज अंसारी आदि मौजूद रहे।

अन्य खबर

डीजे बजाने से मना करने पर दबंगों ने डीजे संचालक की जमकर की पिटाई – मुकदमा दर्ज

अज्ञात वृद्ध ने घाघरा नदी में लगाई छलांग – तलाश जारी

संदिग्ध हालत में तालाब से बरामद हुआ 27 वर्षीय युवक का शव – पोस्टमार्टम 

error: Content is protected !!