सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर:गैर-जनपद व प्रांतों से वापस लौटे सैकड़ों लोगों को प्रशासन द्वारा कोरन्टीन कर उनका भरपूर ख्याल रखा जा रहा है। टाण्डा में संचालित केबीसी पब्लिक स्कूल में तहसील प्रशासन द्वारा बनाए गए अस्थाई कोरन्टीन सेंटर में मौजूद 52 लोगों की भी भरपूर सेवा हो रही है। कोरन्टीन हुए लोगों को लगातार सोशल डिस्टेंडिंग का पालन कराया जा रहा है जिसके लिए अलीगंज थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर रामचन्द्र सरोज स्वयं प्रतिदिन कोरन्टीन सेंटर का कई चक्कर लगाते नज़र आते हैं। कोरन्टीन हुए 52 लोगों में से बलिया के 02, आज़मगढ़ के 07 व सिद्धारनगर के 05 लोग भी शामिल हैं। टाण्डा तहसीलदार संतोष कुमार ओझा के नेतृत्व में संचालित अस्थाई कोरन्टीन सेंटर में प्रातः काल बिस्कुट, केक व पानी की बोतल दी जाती है तथा 10 बजे पूड़ी सब्ज़ी का नाश्ता दिया जाता है। दोपहर में तहरी व शाम 05 बजे चाय बिस्कुट तथा रात्रि में पूड़ी, सब्ज़ी, दाल व चावल दिया जाता है। कोरन्टीन सेंटर के प्रभारी व क्षेत्रीय लेखपाल विकास ने बताया कि कोरन्टीन लोगों द्वारा प्रशासन को पूरा सहयोग प्रदान किया जा रहा है तथा सभी को अलग-अलग बेड, साबुन, तेल आदि दिया जाता है। सोमवार की शाम को नायाब तहसीलदार बसखारी प्रदीप कुमार सिंह व अलीगंज थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर रामचन्द्र सरोज ने संयुक्त रूप से कोरन्टीन किए गए लोगों को कोविड-19 की महामारी में सोशल डिस्टेंडिंग के महत्व को समझाया। उक्त कोरन्टीन सेंटर में सप्लाई इंस्पेक्टर मोहम्मद मोहीद खान के नेतृत्व में बजरंग कैटर्स के सहयोग से भोजन बनाने की व्यवस्था की जा रही है जो काफी सराहनीय है। अलीगंज थाना परिसर के पास में संचालित केबीसी पब्लिक स्कूल में तहसील प्रशासन द्वारा बनाये गए अस्थाई कोरन्टीन सेंटर का उप जिलाधिकारी अभिषेक पाठक व सीओ अमर बहादुर द्वारा लगातार निरीक्षण किया जा रहा है।

टाण्डा में भूखों का मुंह चिढ़ा रही है कम्युनिटी किचन व्यवस्था – पूरी खबर पढ़ने व वीडियों देखने के लिए इसे टच करें

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now