सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: बहुजन समाज पार्टी से सांसद रितेश पाण्डेय ने बसपा मुखिया मायावती को अपना त्याग पत्र सौंपते हुए पार्टी पर उपेक्षा का आरोप लगाया है। कई दिनों से भाजपा में शामिल होने की अटकलों पर आज विराम भी लग जाएगा। रितेश पांडेय भाजपा के सिम्बल पर अम्बेडकर नगर से आगामी लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं जिसके लिए उनकी जॉइनिंग दिल्ली पार्टी कार्यालय पर होनी है। रितेश पांडेय के भाजपा में शामिल होने से उनके पिता विधायक राकेश पांडेय की वोट आगामी राज्य सभा चुनाव में भजपा को मिल सकती है जिससे भाजपा को बड़ा फायदा होगा और उसके बाद राकेश पांडेय भी त्याग पत्र दे सकते हैं।


सांसद रितेश पांडेय ने बसपा की प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र देते हुए बहन मायावती को संबोधित करते हुए कहा कि सार्वजनिक जीवन में बसपा के माध्यम से जब से मैंने प्रवेश किया, आपका मार्गदर्शन मिला, पार्टी पदाधिकारियों का सहयोग मिला तथा पार्टी के ज़मीनी स्तर के कार्यकर्ताओं ने मुझे हर कदम पर अंगुली पकड़कर राजनीति एवं समाज के गलियारे में चलना सिखाया। पार्टी ने मुझे उत्तर प्रदेश विधानसभा और लोकसभा में प्रतिनिधित्व करने का अवसर प्रदान किया. पार्टी ने मुझे लोकसभा में संसदीय दल के नेता रूप में कार्य का अवसर भी दिया. इस विश्वास के लिए में आपके, पार्टी के, पार्टी कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों के प्रति हृदय की गहराइयों से आभार व्यक्त करता हूँ, धन्यवाद ज्ञापन करता हूँ।
श्री रितेश ने कहा कि लंबे समय से मुझे न तो पार्टी की बैठकों में बुलाया जा रहा है और न ही नेतृत्व के स्तर पर संवाद किया जा रहा है. मैंने आपसे तथा शीर्ष पदाधिकारियों से संपर्क के लिए, भेंट के लिए अनगिनत प्रयास किये, लेकिन उनका कोई परिणाम नहीं निकला। इस अंतराल में मैं अपने क्षेत्र में एवं अन्यत्र पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों से निरंतर मिलता-जुलता रहा तथा क्षेत्र के कार्यों में जुटा रहा। ऐसे में मैं इस निष्कर्ष पर पहुँचा हूँ कि पार्टी को मेरी सेवा और उपस्थिति की अब आवश्यकता नहीं रही। इसलिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र देने के अलावा मेरे समक्ष कोई विकल्प नहीं है। पार्टी से नाता तोड़ने का यह निर्णय भावनात्मक रूप से एक कठिन निर्णय है।
श्री रितेश ने आगे कहा कि मैं इस पत्र के माध्यम से बहुजन समाज पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्यागपत्र देता हूँ. आपसे आग्रह है कि मेरे इस त्यागपत्र को अविलंब स्वीकार किया जाए। मैं आपके और पार्टी के प्रति पुनः आभार व्यक्त करता हूँ तथा शुभकामनाएँ प्रेषित करता हूँ।
उक्त त्याग पत्र के उपरांत श्री रितेश के भाजपा में शामिल होने की राह आसान हो गई है। सूत्रों के अनुसार रितेश पांडेय दिल्ली में सोमवार को भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे। श्री रितेश को अम्बेडकर नगर से चुनाव लड़ाने पर भी मुहर लग चुकी है तथा उसके पिता जलालपुर से सपा विधायक राकेश पांडेय भी शीघ्र त्याग पत्र देंगे लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि आगमी राज्यसभा चुनाव के दौरान उनसे क्रास वोटिंग कराई जाएगी जिससे भाजपा को बड़ा राजनीतिक लाभ होगा और उसके बाद श्री राकेश भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं।
बहरहाल राजनीतिक गलियारों में सांसद रितेश पांडेय के भाजपा में जाने की अटकलों पर विराम लगता नासर आने लगा है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now