खुफिया तंत्र की रिपोर्ट पर प्रशासन हाई एलर्ट-शांति की अपील-डीएम एसपी ने टाण्डा में किया कैम्प

Sharing Is Caring:
सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकर नगर:नागरिकता संसोधन कानून के खिलाफ कई स्थानों पर हुई हिंसा तथा खुफिया तंत्र की रिपोर्ट पर जिला प्रशासन एलर्ट हो गया है। विरोध के नाम हिंसा करने वालों पर सख्त शिकंजा कसने की प्रशासन पूरी तैयारी कर चुका है।

सोशल मीडिया पर तथाकथित पर्चा वायरल होने के बाद प्रशासन ने कड़ा रुख अपनाते हुए सोशल मीडिया साइबर सेल के द्वारा उक्त पर्चा अथवा अन्य भड़काऊ पोस्ट लिखने व शेयर करने वालों की सूची तैयार कर रहा है।


औद्योगिक बुनकर नगरी टाण्डा में विशेष निगरानी कराई जा रही है तथा कई स्थानों पर सिविल ड्रेस में पुलिस तैनात किए गए हैं। बुनकर नगरी टाण्डा में विशेष सतर्कता बरते हुए जहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया है वहीं जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र, पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी स्वंय कैम्प किए हुए हैं।
अपर पुलिस अधीक्षक अवनीश कुमार मिश्र ने नागरिकों की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि अशान्ति फैला कर उपद्रव करने अथवा ऐसे लोगों को हवा देने वालों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

सोशल मीडिया पर वायरल फ़र्ज़ी पत्र के बाद प्रशासन ने—

आपको याद दिलाते चलेंकि गुरुवार को लखनऊ में हुई हिंसा के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़े शब्दों में स्पष्ट रूप से उपद्रवियों पर शिकंजा कसने तथा उपद्रवियों की पहचान कर नुकसान की भरपाई उनकी सम्पति से भरनवाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जनपदीय प्रशासन पूरी तरह से एलर्ट हो गया है। टाण्डा उप जिलाधिकारी एम.पी सिंह, सीओ अमर बहादुर, कोतवाली निरीक्षक संजय पाण्डेय व अलीगंज थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर रामचन्द्र सरोज ने संयुक्त रूप से शांति बनाए रखने की अपील करते हए विशेष कर मुस्लिम समुदाय के लोगों से कहा कि जुमा की नमाज़ में अमन शांति की दुआएं मांगे तथा अनावश्यक सड़कों पर भीड़ ना लगाए जिससे क्षेत्र का माहौल पूरी तरह से शांत बना रहे।

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!