सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

भीषण ठण्ड के मौसम में होने वाली बारिश ने गरीब परिवारों पर कहर बरसाना शुरू कर दिया है हालांकि उत्तर प्रदेश में अत्याधिक ठण्ड, शीतलहर व ओलावृष्टि से प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को सख्त निर्देश दिया है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को बारिश तथा ओलावृष्टि से प्रभावित लोगों को अविलम्ब राहत पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। जन हानि, पशु हानि एवं मकान क्षति से प्रभावित व्यक्तियों को सहायता राशि तत्काल उपलब्ध कराने का आदेश दिया है। श्री योगी ने कहा कि इस आपदा से फसलों को हुई हानि का आकलन कर शासन को आख्या उपलब्ध कराने के भी निर्देश के साथ-साथ राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।मुख्यमंत्री सूचना परिसर में स्थित कार्यालय द्वारा 16 जनवरी को जारी पत्र में स्पष्ट आदेश दिया गया है कि बारिश व ओलावृष्टि से प्रभावित लोगों को अविलम्ब राहत नहीं पहुंची तो सख्त कार्यवाही की जाएगी।
आपको बताते चलेंकि दिसम्बर 2019 से ही प्रदेश के अधिकांश भागों में ज़बरदस्त ठण्डी होने के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। एक माह के दौरान विद्यालयों में अधिकांश दिन प्रशासन को अवकाश ही घोषित करना पड़ा है। मौसम विभाग की चेतावनी व एलर्ट का भी अच्छा खासा असर प्रदेश के दर्जनों जनपदों में नज़र आया। 16 जनवरी को प्रदेश मुख्यालय लखनऊ सहित लगभग दो दर्जन जनपदों में मौसम काफी खराब रहा जिसके कारण पहले ही कक्षा 08 तक के विद्यालयों में अवकाश घोषित किया जा चुका था। बरसात होने से जहां आम जनजीवन प्रभावित हुआ है वहीं गरीब परिवारों के लिए ये समय किसी कयामत से कम नहीं है। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर जनपदीय प्रशासन काफी सतर्क हो गया जिसके कारण गरीब परिजनों व बारिश ओलावृष्टि से प्रभावित लोगों को अविलम्भ राहत मिलने की उम्मीद भी जाग गई है।
ठण्ड शुरू होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश ओर सभी जनपदीय प्रशासन को गरीब असहायों को ठंड से बचाने के लिए आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दिया गया था जिसके तहत स्थानीय जनपदीय प्रशासन द्वारा भीड़ भाड़ वाले नगरीय क्षेत्रों में रेन बसेरा शुरू कराया गया जहां गरीब असहायों के रात्रि विश्राम के लिए गद्दा, रजाई, पानी आदि की पूरी व्यवस्था की गई है। ठण्ड से बचाने के लिए ही शासन के निरफेश पर प्रशासन द्वारा बड़े स्तर पर कम्बलों का विरलत्रं भी कराया गया जो बदस्तूर जारी भी है। जिला व तहसील प्रशासन सहित विकास खंड, नगर पालिका व नगर पंचायत प्रशासनों द्वारा भी कम्बलों का वितरण व ठण्ड से बचने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर अलाव की व्यवस्था नज़र आर ही है। ठण्ड से बचने की लाख कवायदों के बावजूद प्रदेश के विभिन्न जनपदों से दुःखद समाचार प्राप्त हुए। एक गैर सरकारी आंकड़े के अनुसार दो दर्जन से अधिक लोगों की ठंड से मौत होने की सूचना है हालांकि चर्चा है कि वास्तविक रूप से ये आंकड़ा काफी कम है।
शीतलहर व ओलावृष्टि के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा प्रदर्श के सभी जिलाधिकारियों को प्रभावित लोगों तक राहत तत्काल पहुंचाने के आदेश की खूब सराहना हो रही है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now