नकली नोट सप्लाई करने वाले गैंग का अम्बेडकर नगर से है गहरा नाता – गिरफ्तारी से हुआ खुलासा

Sharing Is Caring:
सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: भारतीय जालो नोट सप्लाई करने वाले गिरोह का जनपद से गहरा रिश्ता है। एटीएस की कार्यवाही के दौरान दो अभियुक्तों की गिरफ्तारी से खुलासा हुआ जिससे हड़कम्प मच गया।


बांग्लादेश से जाली भारतीय मुद्रा को उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में सप्लाई करने वाले गैंग के दो सदस्यों को 45 हजार की जाली भारतीय मुद्रा के साथ यूपी एटीएस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त किया है। वाराणसी से गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों का सम्बंध जनपद से होने के कारण स्थानीय खुफिया विभाग व पुलिस सतर्क हो गई है।
उत्तर प्रदेश एटीएस को आसूचना प्राप्त हुई थी कि उत्तर प्रदेश से कुछ लोग पश्चिम बंगाल के जाली भारतीय नोट तस्कर गिरोह के संपर्क में हैं और पश्चिम बंगाल से जाली भारतीय मुद्रा (जो बांग्लादेश में छपती है) को लाकर उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में सप्लाई करते हैं।
प्राप्त आसूचना को विकसित किए जाने के उपरांत मंगलवार को समय लगभग 12:30 बजे दो अभियुक्तों को वाराणसी से गिरफ्तार किया गया जिनके पास से 45 हज़ार की जाली भारतीय नोट बरामद हुई। गिरफ्तार विपिन गुप्ता उर्फ अवनीश एवं अंकुर मौर्य पश्चिम बंगाल के फरक्का से अपने तस्कर साथियों के द्वारा बांग्लादेश से तस्करी के माध्यम से लाई गयी जाली भारतीय मुद्रा लेकर वाराणसी आए थे। गिरफ्तार दोनों अभियुक्त बड़े ही शातिर एवं अभ्यस्त तस्कर है एवं पूर्व में भी जेल जा चुके हैं। इस गिरोह में अन्य अपराधियों के संलिप्त होने की भी सम्भावना है, जिनके सम्बन्ध में छानबीन की जा रही है।
अभियुक्तों की पहचान अंकुर मौर्य पुत्र स्व. शिवशरन मौर्य निवासी चिन्तौरा थाना टान्डा कोतवाली व विपिन गुप्ता उर्फ अवनीश पुत्र दिनेश गुप्ता निवासी चिन्तौरा थाना टान्डा कोतवाली जनपद अम्बेडकनगर के रूप में हुई है।
बांग्लादेश से जाली भारतीय नोटों की सप्लाई करने वालों का सम्बंध जनपद से होने के पुख्ता सबूत मिलने के बाद जानपदीय पुलिस भी सतर्क हो गया है तथा अन्य सहयोगियों की तलाश कर रही है।

Related Posts

बकरीद पर्व को लेकर कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई सेंट्रेल पीस कमेटी की बैठक

ठेकेदार द्वारा वर्षों पुराने हरे पेड़ को उखाड़ फेंकने से समाजसेवियों में आक्रोश

टांडा तहसील सभागार में सम्पन्न हुई पीस कमेटी की बैठक

error: Content is protected !!