इस्लाम धर्म में प्रत्येक मुसलमान को पांच कार्यों का अनिवार्य किया गया है जिसमें सर्वप्रथम कलमा (श्लोक) पढ़ना होता है अर्थात दिल व जुबान से मानना होता है कि अल्लाह (ईश्वर) एक है और उसके बराबर कोई दूसरा नहीं है तथा हज़रत मोहम्मद साहब अल्लाह के रसूल (संदेष्टा) हैं।

दूसरे नंबर पर नमाज़ (इबादत) है जो प्रतिदिन पांच निर्धारत समय पर पढ़ना होता है। तीसरे नंबर पर रमज़ान के महीना में रोजा रखना है जिसके लिए कई शर्ते हैं। चौथे नंबर पर अपने पूंजी (कारोबार) का प्रति वर्ष हिसाब किताब कर वर्ष में एक बार ढाई प्रतिशत रकम निकल कर जरूरत मंदों की निस्वार्थ मदद करना है। पांचवे नंबर पर हज करना अर्थात मक्का मदीना की जियारत (दर्शन) करना है।

इन पांचों में से कलमा (मंत्र), नमाज़ (इबादत) व रोजा प्रत्येक मुसलमान पर अनिवार्य है जबकि ज़कात व हज जिसके पर आवश्यकता पूरी करने के उपरांत भी धन हो तो उसे करना होता है।

इस्लाम धर्म में रमज़ान माह को पाक व बरकत वाला महीना माना जाता है और इस माह में की गई इबादत अथवा नेक कार्यों का सबाब (पूण्य) कई गुना बढ़ा माना जाता है इसलिए इस मांग विषेश नमाज़ तराबीह(देर रात्रि की लंबी नामज़) पढ़ी जाती है और पाक कुरआन (पवित्र ग्रन्थ) को अधिक से अधिक पढ़ा व सुना जाता है।

ईश्वरी पाक कुरआन का 30 पारा (भाग) है और हम प्रयास कर रहे हैं कि सभी भाग का अरबी और उसकी उर्दू ट्रांसलेट आपके सामने पेश करें।

नीचे प्रत्येक पारा का अलग अलग लिंक दिया जा रहा है जिसे टच कर आप कुरआन की आयात अरबी में तथा उसका ट्रांसलेट उर्दू में सुन सकते हैं।

पहला पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

दूसरा पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

तीसरा पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

चौथा पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

05 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

06 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

07वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

08 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

09 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

10 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

11वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

12वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

13वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

14वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

15 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

16वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

17 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

18 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

19 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

20 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

21 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

22 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

23 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

24 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

25 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

26 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

27 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

28 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

29 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।

 

30 वां पारा पढ़ने के लिए इसे टच करें।