सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

लखनऊ: प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद के निर्देशानुसार मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रदेश के सभी जनपद के जिलाधिकारियों को निर्देश देते लॉक डाउन के दौरान सभी निजी चिकित्सालों को खोलने की बात कही है। पत्र के अनुसार सभी निजी चिकित्सालयों को न्यूनतम स्टाफ के साथ प्रशासन द्वारा निर्धारित घण्टों के लिए खोले जाएगें। निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों द्वारा Home visit कर भी मरीजों को देखा जाएगा तथा मरीजों को टेलीफोन के माध्यम से भी परामर्श दिया जा सकता है। प्रशासन द्वारा निजी चिकित्सालयों में कार्यरत डाक्टर , नर्स एवं सहयोगी स्टाफ को आवश्यकतानुसार वाहन पास निर्गत किये जायं। सामान्य मरीजों ( Routine cases ) के लिए ओ0पी0डी0 नहीं होगी परन्तु इमरजेन्सी केसेज देखे जाएगें। निजी चिकित्सक / चिकित्सालय के फोन नम्बर भी जन सामान्य के लिए उपलब्ध कराये जाएं।
लॉक डाउन के दौरान प्रदेश के अधिकांश निजी चिकित्सालय बन्द चल रहे थे जिनकी प्रदेश सरकार को लगातार शिकायतें मिल रही थी जिसके बाद शासन ने सभी जिलाधिकारियों को आदेश देते हुए निजी चिकित्सालयों को निर्धारित समय के लिए खोलवाने का आदेश दिया है।