सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

बलिया से पत्रकार अखिलेश सैनी की विशेष रिपोर्ट

दौलत, औरत और जमीन के कारण भाई भी सगा भाई का सबसे बड़ा दुश्मन बन जाता है। जी हाँ, उक्त बात रसड़ा थानाक्षेत्र के ग्राम सभा जाम के दो सगे भाइयों पर सटीक बैठती है और सबसे बड़ी बात ये कि मुख्यमंत्री दरबार पहुँचे पीड़ित भाई की स्थानीय पुलिस मदद करने से कतरा रही है।
तहसील व थाना कोतवाली रसड़ा के ग्राम जाम निवासी राजीव कुमार सिंह पुत्र स्व.राधा गोविंद सिंह ने गोरखपुर स्थित मुख्यमंत्री के कैम्प कार्यालय में पहुंच कर गोहार लगाई कि उसके सगे भाई संजय कुमार सिंह पुत्र स्व.राधा गोविंद सिंह अपने हिस्से की आधी भूमि पर खेती कर रहे हैं तथा उसके हिस्से की भूमि पर लगातार अवरोध पैदा कर अपने पुत्र दीपक कुमार सिंह व अन्य अराजकतत्वों से जान से मारने की भी धमकी देते हैं जिससे उसके परिवार की हालत काफी दयनीय हो गई है।

उक्त शिकायत को संज्ञान लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कैम्प कार्यालय प्रभारी मोती लाल सिंह ने बलिया पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया कि तत्काल पुलिस बल को आवश्यक कार्यवाही का आदेश दें। उक्त आदेश के बाद बलिया पुलिस अधीक्षक द्वारा रसड़ा पुलिस को दबंग पिता पुत्र के खिलाफ कार्यवाही के लिए निर्देशित कर दिया था लेकिन रसड़ा कोतवाली पुलिस द्वारा दबंग किस्म के दीपक व उसके पिता संजय सिंह के खिलाफ कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया जिससे पीड़ित परिवार एक वर्ष से सिर्फ न्याय की तलाश में कोतवाली रसड़ा से बलिया पुलिस कप्तान की चौखट तक की दौड़ लगाने पर विवश है और इस दौरान पीड़ित राजीव सिंह का डरा सहमा परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच चुका है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कलेक्ट्रेट रिकार्ड रूम में दस्तावेज का फ़र्ज़ी वाड़ा करने के आरोप में विपक्षी संजय सिंह के खिलाफ रसड़ा कोतवाली में धोखाधड़ी सहित अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा भी पंजीकृत है।
बहरहाल कहावत है कि सगा भाई जब दुश्मनी पर उतारू हो जाये तो उससे बड़ा कोई दुश्मन भी नहीं होता लेकिन बड़ा सवाल ये है कि सीएम कैम्प कार्यालय के प्रभारी के आदेश के बावजूद एक वर्ष से अधिक समय से न्याय की मांग करते हुए अधिकारियों की चौखटों पर माथा टेक रहे राजीव सिंह को आखिर कब न्याय मिलेगा।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now