सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: अपने पुत्र के भविष्य को सुनहरा बनाने का सपना बुनती माँ अपने 10 वर्षीय पुत्र को बुधवार की सुबह विद्यालय ले कर जा रही थी लेकिन तेज़ रफ़्तार ट्रक ने उनके सपनों को ही नहीं बल्कि उनकी पूरी ज़िंदगी को हो बर्बाद कर दिया। घटना जिला मुख्यालय के नई बाजार लोरपुर के पास उस समय हुई जब 10 वर्षीय रितिक अपनी मां की साइकिल पर बैठकर उनकर सपनों को साकार करने के उद्देश्य से जौहरडीह में संचालित तक्षशिला विद्यालय जा रहा था। तेज़ रफ्तार ट्रक की टक्कर से मासूम छात्र की मौके पर ही दर्दना मौत हो गया जबकि माँ भी गंभीर रूप से घायल हो गई। घटना के बाद चालक ट्रक लेकर भागने में सफल रहा। घायल माँ के सामने ही उसके मासूम पुत्र ने दम तोड़ दिया और ट्रक चालक भागने में भी सफल रहा लेकिन घायल पड़ी मज़बूर माँ अपने सपनों को ही नहीँ बल्कि अपनी ज़िंदगी को भी तबाह होती देखती रही।
बहरहाल नगरीय क्षेत्रों में विशेष कर विद्यालयों के समय ट्रक चालकों की रफ़्तार पर अंकुश ना लगाने के कारण नित नई घटनाएं प्रकाश में आती रहती है इसलिए ट्रक के चक्कों की रफ्तार पर लगाम लगाह अतिआवश्यक हो गया है।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now