सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

अम्बेडकरनगर: कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लोए पूरे देश में जारी लॉकडाउन का चौथा चरण अंतिम दिनों में पहुंच चुका है। जिले में पहले दो लॉकडाउन के डाउन दौरान कोरोना पास्टिव मरीजों की संख्या शून्य थी, लेकिन तीसरे लॉकडाउन के अंतिम दिनों व चौथे लॉकडाउन के शुरुआत से ही लगातार कोरोना पास्टिव मरीजों की संख्या में वृद्धि होती जा रही है। चौथे लॉकडाउन के दौरान एक मृत्यु व्यक्ति का सैम्पल जांच के लिए भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट पास्टिव आई थी, जबकि अहिरौली कटेहरी निवासी गंगाराम की अयोध्या में ईलाज़ के दौरान मृत्यु हो गई थी। गंगाराम की मृत्यु के बाद परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था, लेकिन लावारिश लाशों का अंतिम संस्कार का बीड़ा उठाने वाले वरिष्ठ समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा ने अपने सहयोगियों के साथ गंगाराम के शव का अयोध्या में ही जा कर धार्मिक अनुष्ठानों के साथ अंतिम संस्कार किया था।जानलेवा कोटना वायरस के संक्रमण से डर कर जब अपने ही शव का अंतिम संस्कार करने से किनारा कस लिया तब सेवाहि धर्म: के संरक्षक वरिष्ठ समाजसेवी धर्मवीर सिंह बग्गा द्वारा सामने आ कर अति सराहनीय कार्य करते हुए अंतिम संस्कार किया जिसकी पूरे क्षेत्र में सराहना हो रही है।
प्राप्त सूचना के अनुसार शुक्रवार को कोरोना पास्टिव बरियावन निवासी आबिद हुसैन की लखनऊ में इलाज़ के दौरान मृत्यु हो गई है। मृतक पहले से भी किडनी की समस्या से दो चार था, मृतक के परिजनों व संपर्क में आये 26 लोगों को क्वारन्टीन किया गया था, तथा सभी की जांच रिपोर्ट निगेटिव बताई जा रही है। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर अशोक कुमार ने आबिद हुसैन की मृत्यु की पुष्टि करते हुए बताया कि कोरोना पास्टिव मरीजों का इलाज करते समय दो लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक मृत्यु व्यक्ति का सैम्पल पास्टिव आया था।
बहरहाल जनपद में कोरोना वायरस की महामारी के संक्रमण से अभी तक कुल तीन लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 10 लोग सफल इलाज़ के बाद अपने घर लौट आए हैं।

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now