सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now

मुस्लिम समुदाय के सुन्नी बरेलवी पंथ के संस्थापक आला हजरत इमाम अहमद रज़ा खान रह. व विश्व प्रसिद्ध सूफी हज़रत मखदूम अशरफ समनानी के भांजे नुरुलऐन रह. के संबंध में अपशब्दों का प्रयोग कर लाखों करोड़ों लोगों की आस्थाओं पर प्रहार किए जाने से नाराज़ जहां बसखारी थाना पर सैय्यद इनामुद्दीन अशरफ ने तहरीर देकर कारवाही की मांग किया है वहीं टाण्डा कोतवाली पुलिस को शेखपुरा निवासी नवाब शाबरी ने भी तहरीर देते हुए सख्त कार्यवाही की मांग किया है हालांकि उक्त अभद्र टिपणी वाली वीडियों के बाद अपनी गलियों की क्षमा मांगने वाली वीडियों भी वायरल हो रही है।

आपको बताते चलेंकि गत तीन-चार दिनों से सोशल मीडिया पर एक वीडियों वायरल हो रही है जिसमें सुन्नी बरेलवी पंथ के आला हजरत के नाम से प्रसिद्ध इमाम हज़रत अहमद रज़ा खान रह. व विश्व प्रसिद्ध सूफी हज़रत मखदूम अशरफ सिमनानी सहित कई आपत्तिजनक अश्लील अभद्र टिपण्णी की गई। उक्त वीडियों दो युवकों के बीच हुई बातचीत पर आधारित है जिसमें दाढ़ी टोपी लगाते हुए साहबे आलम एक दुकान में बैठे साफ दिखाई पड़ते हैं जबकि दूसरे युवक का चेहरा नहीं आया है। वीडियों वायरल होते ही सुन्नी बरेलवी समुदाय ही बल्कि बल्कि अन्य पंथों के लोगों ने नाराजगी प्रकट किया। इसी बीच रविवार की देर शाम एक दूसरा वीडियों भी वायरल हुआ जिसमें अभद्र व अश्लील टिपणी करने वाले साहबे आलम अपनी गलती स्वीकार करने के साथ माफी मांगते नज़र आ रहे हैं। आला हजरत सहित सूफी मखदूम अशरफ से जुड़े लोगों ने इसे सीधे तौर पर आस्था पर प्रहार बताया है। सैय्यद इनामुद्दीन अशरफ़ ने बसखारी पुलिस को तहरीर दी कर कार्यवाही करने का दावा किया है जबकि नवाब शाबरी ने टाण्डा कोतवाली पुलिस को वीडियों की मूल प्रति सहित तहरीर दी कर कड़ी कार्यवाही की अपील किया है। वायरल पहली वीडियों काफी अभद्र व आपत्तिजनक होने के कारण हम पाठकों को नहीं दिखा सकते हैं।

गुस्ताख़ी के एहसास के बाद माफी मांगने का वीडियों भी हुआ वायरल-देखें

सूचना न्यूज़ Whatsapp Join Now
Telegram Group Join Now