अम्बेडकरनगर (रिपोर्ट:जावेद सिद्दीकी अन्ना) क्या अपने कभी सुना है कि मृत्यु हुए लोग भी गाँव में वापस लौट कर आते हैं और मनरेगा में काम कर पूरा पैसा ले जाते हैं।


जी हाँ, ताज़ा मामला जनपद की तहसील व ब्लाक टाण्डा की ग्राम पंचायत रुद्रपुर भगाही का है जहाँ के निवासी काजी मोहम्मद जमाल का 30 दिसंबर 2019 को इन्तेकाल हो गया जिसका मृत्यु प्रमाण पत्र भी प्रशासन द्वारा जारी कर दिया गया है लेकिन 10 जून 2021 से 23 जून 2021 के बीच स्वर्गीय काजी जमाल अहमद मनरेगा में काम कर पूरा पैसा ले जाते हैं जिसका सबूत मास्टर रूल संख्या 3746 पर है। मृतक के पुत्र काजी जावेद ने मुख्य विकास अधिकारी से लिखित शिकायत करते हुए बताया कि उसके पिता का जब इन्तेकाल हो गया तो वो गनब में कैसे आकर काम किए और पैसा ले गये। श्री जावेद ने ग्राम पंचायत अधिकारी व सहायक विकास अधिकारी द्वारा कूटरचित ढंग से उनके मृत्यु पिता कर नाम पर मनरेगा जैसी अतिमहत्वकांक्षी योजना से पैसा निकाल कर हड़प करने से काफी आहत बतातये हुए जांच कर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग किया है।