अम्बेडकरनगर: टाण्डा नगर क्षेत्र के अकबरपुर मार्ग पर वर्षों से संचालित आदर्श ट्रेडर्स की दुकान पर किरायेदारी को लेकर चल रहा विवाद शनिवार को काफी बढ़ गया जिसके बाद कोतवाली पुलिस ने दुकान पर अपना ताला लगाकर सील कर दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार तीन दशक से अधिक समय से उक्त दुकान में आदर्श ट्रेडर्स नाम से काफी किताब व स्टेशनरी की दुकान संचालित हो रही है जिसको खाली कराने के लिए दुकान मालिक व उनकी पत्नी ने पुलिस व प्रशासन को प्रार्थना पत्र दिया। उक्त मामले को उप जिलाधिकारी व पुलिस क्षेत्राधिकारी ने कई चक्रों में सुलझाने का प्रयास किया मगर विफल रहे।


दुकान मालिक का आरोप है कि उन्हें काफी कम किराया मिलता है और अब वो दुकान उन्हें किराए पर नहीं देना इसलिए दुकान खाली की जाए जबकि किरायेदार का आरोप है कि तीन दशक पूर्व उनके पिता जी द्वारा दुकान के ऊपर का भवन का निर्माण कराया गया था तथा उक्त दुकान में पहले से रह रहे किरायेदार को खाली कराने के लिए उसकी डिपाजिट भी अदा की गई थी जिसकी लिखा पढ़ी है और वो पैसा उन्हें जब वापस मिलेगा तभी दुकान खाली करेंगे। दुकान मालिक का कहना है कि उनके स्वर्गवासी पिता जी द्वारा उन्हें ऐसी कोई बात नहीं बताई गई थी और इस संम्बध में कोई लिखा पढ़ी भी नहीं है।
अधिकारियों के अथक प्रयास के बाद भी दुकान मालिक व किरायेदारी के बीच सामंजस्य नहीं बैठा जिसके बाद किरायेदार द्वारा न्यायालय की शरण ले ली गई जिससे दुकान मालिक काफी आक्रोशित हो गए। शनिवार की दोपहर दुकान मालिक की पत्नी दुकान में जाकर बैठ गई और तत्काल दुकान खाली कराने की मांग करने लगी तो किरायेदार द्वारा डायल 112 पुलिस बुलाई गई मगर महिला को दुकान से नहीं हटाया जा सका।
देर शाम में मामला उस समय गंभीर हो गया जब किरायेदार के परिवार से भी महिलाएं वहां पहुंच गई और मौके पर भीड़ जमा हो है।
टाण्डा कोतवाली निरीक्षक संजय कुमार पाण्डेय ने बताया दोनों पक्ष की महिलाएं आमने सामने आ गई थी जिससे शांति व्यवस्था बहाल रखना मुश्किल हो सकता था जिसको देखते हुए धारा 145 के तहत दुकान को सील कर दिया गया है जो मजिस्ट्रेट के अग्रिम आदेश तक कोई भी पक्ष ताला नहीं खोल सकता है।
किरायेदार ने बताया कि उक्त दुकान ही एक मात्र रोजी रोटी का सहारा है और किताब कापी की बिक्री का सीजन शुरू हो रहा है ऐसे में उनकी दुकान सील होने से उनका काफी नुकसान होगा।
बहरहाल महीनों से दुकान की किरायेदारी का चल रहा विवाद शनिवार को काफी गहरा गया जिसके बाद पुलिस ने शांति व्यवस्था को कायम रखने के उद्देश्य से दुकान को सील कर दिया है।