अम्बेडकरनगर (सूचना न्यूज़ कार्यालय) जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन व पुलिस कप्तान आलोक प्रियदर्शी ने गुरुवार को जिला कारागार का भारी पुलिस बल के साथ औचक निरीक्षक किया।


डीएम एसपी ने सर्वप्रथम महिला बैरक का निरीक्षण किया गया महिला बैरक की महिला पुलिसकर्मियों द्वारा तलाशी की गई। जिसमें कोई भी निषिद्ध वस्तु प्राप्त नहीं हुई। तत्पश्चात महिला बन्दियों से उनके खानपान, बिस्तर, चिकित्सा व्यवस्था, मुलाकात. पी.सी.ओ. से वार्ता तथा साफ सफाई के विषय में कोई शिकायत नहीं मिलने पर संतोष जताया।

जिला कारागार बलिया से आई महिला बंदियों के साथ रह रहे उनके बच्चों को दूध, फल, एवं ऊनी वस्त्र आदि दिये जाने की सूचना प्राप्त की। अन्य अहातों में जाकर बैरकों की सघन तलाशी करायी गई, कोई भी निषिद्ध वस्तु प्राप्त नहीं हुई। पाकशाला की सुव्यवस्था एवं साफ सफाई देखकर प्रशंसा व्यक्त की। सर्वत्र इन्सेक्ट किलर चालू थे। तत्पश्चात् अस्पताल का भ्रमण किया वहां भर्ती बन्दियों का हाल पूछा किसी के द्वारा किसी प्रकार की शिकायत नहीं की गई।

जिलाधिकारी द्वारा कारागार में एक पूर्ण कालिक चिकित्सक की तैनाती की आवश्यकता पर बल दिया तथा कारागार में बाधित जलापूर्ति व्यवस्था एवं जल निकासी की समस्याओं को यू.पी.आर.एन.एन. एवं जिला प्रशासन सहयोग से इसका निदान कराये जाने का आश्वासन दिया। संपूर्ण परिसर की सुरक्षा व्यवस्था स्वच्छता तथा शांतिपूर्ण माहौल एवं फूल पौधों की सजावट देखकर उन्होंने कारागार प्रशासन की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। जेल अधीक्षक द्वारा बन्दियों एवं प्रशासनिक हित में किये जा रहे कार्यों की भी सराहना किया। रचनात्मक कार्यों के कार्यान्वयन में आने वाली अड़चनों को दूर करने हेतु भी अपना सहयोग प्रदान करने में सहमति जताई। निरीक्षण के समय जेल अधीक्षक, श्रीमती हर्षिता मिश्रा, चिकित्साधिकारी डॉ पुष्पेन्द्र प्रताप, जेलर गिरिजा शंकर यादव, डिप्टी जेलर राजेश कुमार समेत समस्त स्टाफ उपस्थित थे। अनुशासन व्यवस्था पूर्णतया चुस्त दुरूस्त व चाक चौबंद थी।