बिजली चोरी में कपड़ा व्यवसायी को अदालत ने सुनाई 98 लाख जुर्माना व तीन वर्ष की सश्रम सज़ा

अम्बेडकरनगर: अपर जिला जज प्रथम एवं विशेष न्यायाधीश विद्युत अधिनियम महेंद्र सिंह ने धागा रंगाई फैक्ट्री का संचालन करने वाले कपड़ा व्यावसायी पर बिजली चोरी मामले में 97 लाख 95 हज़ार 513 रुपये का जुर्माना व तीन वर्ष सश्रम कारावास की सज़ा सुनाई है। बिजली चोरी मामले में अदालत द्वारा सुनाए गए फैसले से सनसनी फैल गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार औद्योगिक टाण्डा नगर क्षेत्र के मोहल्लाह मुमताजगंज निवासी व कपड़ा व्यवसायी पर अंसार हुसैन अंसारी द्वारा धागा रंगाई की फैक्ट्री का संचालन अलीगंज थाना क्षेत्र के आसोपुर में किया जा रहा था जिसपर 16 दिसम्बर 2010 को प्रवर्तन दल फैज़ाबाद (अयोध्या) प्रभारी जंग बहादुर व अवर अभियंता राजीव कुमार यादव ने संयुक्त रूप से छापेमारी किया तो 61.5 हॉर्सपावर बिजली चोरी का मामला सामने आया। तत्कालीन अधिशाषी अभियंता ने 24 जनवरी 2011 को सूचित करते हुए बिजली चोरी का मुकदमा दर्ज कराया था। कई वर्षो चली पक्ष व विपक्ष की बहस के बाद धागा रंगाई फैक्ट्री संचालक अंसार हुसैन अंसारी पर लगभग 98 लाख रुपए जुर्माना सहित तीन वर्ष की सश्रम सज़ा सुनाई और जुर्माना अदा ना कर पाने पर 09 वर्ष की साधारण सज़ा भुगतना होगा। अदालत के निर्णय के बाद बिजली चोरी करने वालों में हड़कम्प मच गया है।