गर्मी बढ़ने केे साथ ही बिजली कटौती की समस्या गंभीर होने लगी है। सिंचाई न हो पाने से मक्का,उड़द, खरबूजा, तरबूज,ककड़ी, मूंगफली की फसलें सूख रही हैं।

भोंगाव। आलीपुर खेड़ा फीडर स्थिति बरधनियाँ,मिलिकिया,नगला इतवारी, नाका, मानिकपुर,नगला वन,शिवपालपुर,कमलपुर,दलपतपुर, गढ़िया गोबिंदपुर,अकबेलपुर, रकरी,विक्रमपुर,प्रसादपुर, दूल्हापुर खिरिया, वरहट,जसरथपुर,वीरसिंहपुर सहित सेकड़ो गाँवों के किसान परेशान है।
एक सैकड़ा से अधिक गांवों में किसान आलू की खुदाई के बाद मक्का करते हैं। आलीपुर खेड़ा बिजली उपकेंद्र से जुड़े इन गांवों में बिजली का जबरदस्त संकट है। 10 घंटे निर्वाध बिजली के फरमान के बाद भी नलकूप की अलग लाइन से केवल छह से सात घंटे बिजली मिल रही है। जहां नलकूप की अलग लाइन अलग है। जंहा समस्या और भी ज्यादा है। ऐसे में किसान बिजली के इंतजार में फसलों को सूखता देख रहे है।
प्रमोद राजपूत ने बताया कि भरपूर बिजली न मिलने से मक्का, खरबूजा, तरबूज, मूंगफली, ककड़ी, खीरा, उड़द, मूंग की फसलें सूख रही हैं।किसान सुधीर राजपूत,शिवचरन सिंह, अहिवरन सिंह राजपूत,तिलक सिंह राजपूत,सुखवीर राजपूत,सन्तप्रकाश,पंची यादव,भगवान दास,राजेश कुमार,शिवम सिंह, अभिलाख राजपूत,बन्टी शर्मा,लल्लू शाक्य आदि ने जिलाधिकारी से शुचारु बिजली दिलाये जाने की मांग की है।